Home विशेष रायबरेली में छेड़छाड़ से तंग बहनों ने PM को अपने खून से...

रायबरेली में छेड़छाड़ से तंग बहनों ने PM को अपने खून से लिखा खत

1105
0
SHARE

रायबरेली | वर्तमान समय में शाहदों का आतंक इस कदर बढ़ गया है कि स्कूल आने और जाने वाली छात्राओं से शोहादे रास्ते में छीटाकशी और अश्लील हरकत कर रहे है। शोहदों के आतंक से परेशान शहर की दो छात्राओं ने खून से लिखा शिकायती पत्र प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को भेजकर न्याय की गुहार लगाई। छात्राओं ने दिए गए शिकायती पत्र में छात्राओं की सुरक्षा और आबरु बचाने के साथ शोहदों पर कार्रवाई की मांग की है।

मेरठ एसएसपी के दफ्तर में किशोरी ने किया खुद को जलाने कि कोशिश
शहर के एक मोहल्ले की रहने वाली दो छात्राओं ने बीती 20 जनवरी को प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री को खून से लिखा शिकायती पत्र भेजा। भेजे गए शिकायती पत्र में एक छात्रा ने आरोप लगाया कि वह बाराबंकी जनपद में बीटेक कर रही बावजूद घर आने और जाने से लेकर स्कूल तक शोहदें उसका पीछा करते हैं और रास्ते में छीटाकशी करके उसे परेशान करते हैं। आरोप है कि विरोध करने पर शोहदें तेजाब फेंककर चेहरा खराब करने और जान से मारने की धमकी देते है। वहीं बीटेक छात्रा की छोटी बहन जो शहर में प्राइवेट स्कूल में कक्षा 11 वीं की कक्षा है, उसका भी आरोप हैं कि शहर के शोहदों से परेशान से छात्राएं स्कूल आने और जाने में डरती है। आरोप है कि शहर में कहीं भी महिला पुलिस कर्मी दिखाई नहीं पड़ती है। इससे शोहदों के हौसले बढ़ रहे है।

ओपी सिंह की डीजीपी पर नियुक्ति का आज जारी होगा आदेश, मंगलवार को संभालेंगे चार्ज

दोनों सगी बहनों ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को शिकायती पत्र भेजकर छात्राओं की आबरू और सुरक्षा की मांग करते हुए शोहदों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई की मांग की है।
सूनसान स्थान पर करते हैं छेड़छाड़जिले भर में वर्तमान समय में शोहदों का आंतक व्याप्त है। घर से स्कूल को निकलने वाली छात्राओं में शोहदों का डर हर समय सताता रहता है। कई छात्राओं ने अगर विरोध किया तो जान से भी हाथ धोना पड़ता है। लालगंज कस्बे में आए दिन शोहदों से परेशान छात्राओं ने स्थानीय पुलिस और प्रशासन से कई बार शिकायत की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। थकहार कर छात्राएं शोहदों का आतंक बर्दाश्त कर रही हैं।

चार दिन में चार डकैती, मलिहाबाद में डकैतों आतंक, एक युवक की हत्या
शाहदों से परेशान होकर युवती ने लगाया था मौत को गले
गत वर्ष नसीराबाद थाना क्षेत्र के एक गांव की एक युवती ने शोहदों के आतंक से परेशान होकर पूरे गांव के सामने मौत को गले लगा लिया था। युवती की मौत के बाद पुलिस ने खानापूर्ति करने के लिए युवक के परिजनों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था।
स्कूल, कोचिंग, बाजार में बढ़ाई जाए सुरक्षा व्यवस्था
जिले भर में संचालित कोचिंग और स्कूल के बाहर महिला पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाई जाए और बाजार व सुनसान स्थान पर विशेष रुप से अभियान चलाया जाए। बाइकों से फर्राटा भरने वाले शाहदों की पूछताछ करने के बाद उन पर कार्रवाई की जाए।

छात्रा ने कहा, मैं बेकसूर हूं, पिता ने सीबीआई जांच की मांग की

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here