Home क्राइम मुख्यमंत्री आवास के बाहर परिवार के साथ पहुंची महिला ने किया आत्मदाह...

मुख्यमंत्री आवास के बाहर परिवार के साथ पहुंची महिला ने किया आत्मदाह का प्रयास

135
0
SHARE

लखनऊ | भारतीय जनता पार्टी की सरकार भले ही प्रदेश में कानून-व्यवस्था दुरूस्त करने और सुशासन का दावा कर रही हो लेकिन सीएम आवास के बाहर आये दिन हो रहे आत्मदाह के प्रयास प्रदेश में फैले जंगलराज की पोल खोल रहे हैं। राजधानी लखनऊ के गौतमपल्ली थाना क्षेत्र स्थित मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पांच कालिदास मार्ग पर उस समय हड़कंप मच गया जब एक महिला रिश्ते में अपने भतीजे और अपने नाबालिग पुत्र के साथ सीएम आवास के सामने आत्मदाह करने पहुंच गई।

दिव्यांग को लखनऊ पुलिस ने बताया हत्यारा, CM योगी ने किया था सम्मानित

इससे पहले महिला अपने ऊपर तेल डालकर आग लगा पाती कि मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें दबोच लिया। महिला और उसका भतीजा 5 लीटर की पिपिया में मिटटी का तेल लेकर पहुंचे थे। इस घटना से मौके पर हड़कंप मच गया, लेकिन पुलिस ने सजगता दिखाते हुए दोनों को दबोच दिया। इसकी सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची और दोनों को हिरासत में लेकर गौतमपल्ली कोतवाली ले गई। पीड़ित दंपत्ति ने चेतावनी दी है कि अगर कोई कार्रवाई नहीं हुई तो फिर वह आत्मदाह कर लेगी। फिलहाल पुलिस ने स्थानीय कोतवाली को फोन करके कार्रवाई करवाने का आश्वासन देकर उन्हें घर भेज दिया।

कानपुर में थाने के अंदर चाकू से गोदकर दरोगा की हत्या, एक दिन बाद मिला शव
जानकारी के मुताबिक, मामला बस्ती जिला के मोहल्ला कटरा थाना कोतवाली क्षेत्र का है। यहां की रहने वाली पीड़ित महिला लक्ष्मी देवी शुक्रवार सुबह 8:00 बजे अपने 16 वर्षीय पुत्र और भतीजे चुनने के साथ आत्मदाह करने के लिए लखनऊ पहुंची थी। पीड़िता ने बताया कि उसके पति का स्वर्गवास हो चुका है। उसका बेटा परिवार का पेट चलाने के लिए चुनने के पास मिठाई के डिब्बे बनाने का काम करता है। पीड़िता का आरोप है कि उसके मोहल्ले की दबंग महिला लक्ष्मीना अपनी 4 लड़कियों के साथ रहती है। पिछली 23 जून को सुबह 8 बजे वह अपने पुत्र ठेले पर दुकान लगाने जा रही रही। इस दौरान दबंग महिला की लड़कियों ने पीड़िता को गन्दी-गन्दीगालियां देनी शुरू कर दी। विरोध करने पर पीड़िता के बेटे को छेड़छाड़ के झूठे आरोप में फंसाने की धमकी दी। इसके बाद महिला ने उसके पुत्र और भतीजे पर छेड़छाड़ का झूठा आरोप लगाकर मुकदमा पंजीकृत करवा दिया।
जनपद महोबा में कर्ज में डूबे किसान लगा ली फांसी

मुकदमा दर्ज होने के बाद पीड़ित डरा हुआ है। अपनी चाची के साथ आत्मदाह करने आये चुन्ने ने बताया कि उसे यूपी 100 के पुलिसकर्मियों ने बताया कि हम लोग जानते हैं कि आप निर्दोष हो महिला चरित्रहीन है लेकिन मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस कानूनी कार्रवाई करेगी। पीड़ित अपनी चाची को लेकर एसपी के यहां गया लेकिन मदद नहीं मिली। आरोप है कि डीआईजी कार्यालय से भी उसे भगा दिया गया और साहब से मिलने नहीं दिया गया। इससे क्षुब्ध होकर वह लखनऊ आत्मदाह करने पहुंचा था।
पीड़ित ने बताया कि उसे गौतमपल्ली पुलिस अपने साथ ले गई। यहां पुलिस ने उनके साथ काफी अच्छा व्यव्हार किया। पीड़ित की माने तो पुलिस ने फौरन स्थानीय पुलिस को फोन करके पीड़ित को न्याय और हर संभव मदद करने के निर्देश दिए। साथ ही दबंग महिला के खिलाफ कार्रवाई करने की पुलिस ने बात कही। लखनऊ पुलिस के व्यव्हार और कार्यशैली से पीड़ित काफी खुश है और उसने प्रशंसा करते हुए कहा काश हर जिले की पुलिस ऐसी ही हो जाये तो सभी पीड़ितों को न्याय मिलना मुश्किल नहीं होगा। पीड़ितों ने बताया कि आरोपी महिला लक्ष्मीनी इलाके में फर्जी छेड़छाड़ के मुकदमे दर्ज करवाकर सुलह के नाम पर वसूली करती है। पीड़ितों ने बताया कि अभी 20 दिन पहले ही इस दबंग महिला ने एक डॉक्टर के क्लिनिक में जाकर मारपीट और तोड़फोड़ की थी। इतना ही नहीं डॉक्टर के ऊपर फर्जी छेड़छाड़ का मुकदमा लिखा दिया। इसके बाद सुलह करके 20 हजार रुपये ले लिए। ये कोई पहला मामला नहीं है इससे पहले में ये महिला कई मुकदमे कराकर सुलह के नाम पर वसूली कर चुकी है।

राजाजीपुरम में एफसीआई गोदाम के पास ट्रक में मिला किशोर का शव, हत्या का आरोप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here