Home लखनऊ भारत में सबसे अधिक महिलाओं के साथ हो रही हिंसा, देखें अकड़े

भारत में सबसे अधिक महिलाओं के साथ हो रही हिंसा, देखें अकड़े

693
0
SHARE

लखनऊ। 19.98 करोड़ की जनसंख्या के साथ उत्तर प्रदेश सबसे बड़ा राज्य है जिसमें 95331,831 महिलाएँ हैं। कुल बाल लिंग अनुपात प्रति 1000 पर 902 है जहाँ कि बच्चों की कुल आबादी 30791331 है।  महिला  साक्षरता दर 57.18 प्रतिशत आँका गया लेकिन यह लिंग हिंसा या लिंग भेदभाव में कमी पर कोई प्रभाव नहीं दर्शाता है।
भारत और उत्तर प्रदेश में बालिकाओं को जन्म के समय से ही लिंग भेदभावबहिष्कार, उपेक्षाहिंसा का सामना करने को बाध्य होना पड़ता है जो पितृसत्तात्मक मानसिकता से उत्पन्न होता है। हाल में हुए जी20 सर्वेक्षण के अनुसार एक माहेला के रूप में भारत को एक बुरे स्थान पर रखा गया था। सर्वेक्षण में यह दर्शाया जाता । है कि भारत में 15-49 आयु वर्ग की एक तिहाई महिलाओं ने शारीरिक हिंसा का सामना किया है और 10 में 1 यौन हिंसा की शिकार रही हैं। एक अध्ययन जो भारत में सात राज्यों में किया गया, यह दर्शाता है कि 60 प्रतिशत पुरूषों ने अपने जीवन के किसी भी वक्त में अपनी पत्नि/ सहयोगी के साथ हिंसात्मक कार्य किया है। 2013 में विश्व बैंक के द्वारा किये गये एक अध्ययन ने पाया कि प्रतिदिन औसतन 92 महिलाओं का बलात्कार होता है जिसमें 25 प्रतिशत की उम्र 18 वर्ष से कम की होती है। इन गम्भीर स्थिति पर ध्यान केन्द्रित करने के लिए और उत्तर प्रदेश में महिलाओं एवं बालिकाओं के विरूद्ध यौन हिंसा जैसे मुद्दे को प्रभावशाली रूप से सम्बोधित करने के लिए सार्वजनिक बहस को लामबंद करने के लिए सेव द चिल्ड्रेन 1090 वुमेन पावर लाईनचाइल्ड लाईन लखनऊ, चन्व फाउन्डेशनशिरोस हैंगआउटबी. बी.डी. .8 एफएम और रेड ब्रिगेड लखनऊ के सहयोग से पुलिससमुदायछात्र और पत्रकारों में लिंग आधारित हिंसा और गलियों की स्थिति में रहने वाले बच्चों की सुरक्षा के लिए जागरूकता फैलाना और उनकी क्षमता वृद्धि के लिए एक महीना लम्बा अभियान “लिंग आधारित हिंसा नहीं है सही का आरम्भ करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here