Home क्राइम अपहरण के प्रयास में व्यवसायी समेत दो गिरफ्तार

अपहरण के प्रयास में व्यवसायी समेत दो गिरफ्तार

245
0
SHARE

लखनऊ। यहियागंज टेढ़ी बाजार से युवक के अपहरण के प्रयास के मामले में पुलिस ने आरोपित व्यवसायी रवींद्र और उसके साथी शिवांश को गिरफ्तार कर शनिवार को जेल भेज दिया, जबकि अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है। पुलिस ने उसके पास से देसी पिस्टल भी बरामद की थी।

यह भी पढें:-बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल आरके मिश्रा को सरकार ने किया सस्पेंड
टेढ़ी बाजार निवासी सुमन जायसवाल के घर पर शुक्रवार देर रात कई कारों से पहुंचे असलहों से लैस अलीगंज के व्यवसायी रवींद्र ने साथियों संग पथराव कर हंगामा किया था। सुमन के बेटे अंकित के न मिलने पर रवींद्र उसके साथी नन्हकऊ पांडेय को कार में डालकर उठा ले गया था। इसके बाद यह लोग उसे जेबकतरा बताकर वजीरगंज कोतवाली लेकर पहुंचे। जहां वायरलेस पर युवक के अपहरण का मैसेज गूंजने पर पुलिस को आशंका हुई तो सभी को बैठा लिया गया।

यह भी पढें:-रागिनी हत्याकांड का मामला : दरोगा जीजा ने घर वालों को दी धमकी

सूचना पर चौक पुलिस और एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी मौके पर पहुंचे। इसके बाद नन्हकऊ को छुड़ाकर व्यवसायी और उसके साथी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। शनिवार को पुलिस ने दोनों को अपहरण के प्रयास, बलवा और अन्य धाराओं में जेल भेज दिया। नोटबंदी के दौरान लाखों रुपये बदलवाने को लेकर रवींद्र का अंकित से नौ लाख रुपये के लेनदेन को लेकर विवाद चल रहा था।

यह भी पढें:-शरद यादव को हटाने के लिए उपराष्ट्रपति को सौंपा पत्र

नौ लाख रुपये के लेनदेने को लेकर रवींद्र ने कुछ माह पूर्व सुमन और उसके बेटे के खिलाफ चौक थाने में तहरीर दी थी। बताते हैं कि दो माह पूर्व दोनों पक्षों में थाने में लिखित समझौता हुआ था। सुमन ने बताया कि उसने 50-50 हजार रुपये कई बार रवींद्र को दिए भी थे। इस दौरान कैंसर से पीडि़त उनके पति अशोक जायसवाल की मौत हो गई। जिसके बाद उसकी आर्थिक स्थिति बिगड़ गई और वह रुपये नहीं दे पायी थी।

यह भी पढें:-जानिए क्यों दिन में पुरुष और रात में सेक्स के लिए परेशान करती हैं महिलाएं

सूत्रों के मुताबिक नोटबंदी के दौरान रवींद्र, अंकित को पांच सौ और हजार के पुराने नोट खपत कराने के लिए देता था। अंकित ने यहियागंज और टेढ़ी बाजार मंडी में उसके करीब 60-70 लाख रुपयों की खपत करायी थी। अंतिम नौ लाख रुपये का हेरफेर हो गया था। जिसके लेनदेने को लेकर दोनों में विवाद चल रहा था। पहले भी कई बार रवींद्र अंकित के घर तगादा करने के लिए आया था।

यह भी पढें:-आक्सीजन सिलिण्डर सप्लाई करने वाले कम्पनी के मालिक घर छापा, फरार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here