Home उत्तर प्रदेश अयोध्या मामले के 25वीं बरसी पर उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट

अयोध्या मामले के 25वीं बरसी पर उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट

433
0
SHARE

लखनऊ| अयोध्या में विवादित ढांचा गिराए जाने की 25वीं बरसी पर केन्द्र ने सभी राज्यों से विशेष सर्तकता बरतने और शांति को सुनिश्चित करने की एडवायजरी जारी की है, ताकि देश के किसी भी हिस्से से कोई हिंसा की ख़बर ना आए। उधर, उत्तर प्रदेश पुलिस ने पूरे राज्य में अलर्ट जारी किया है। डीजीपी सुलखान सिंह ने इस बाबत सभी एसएसपी, एसपी को जरूरी निर्देश जारी किए हैं।

एक चौथाई सदी में देश का राजनीतिक इतिहास बदल गया
राज्य के 18 संवेदनशील जिलों में 27 कंपनी पीएसी बल तैनात किया गया है। जिलाधिकारियों से कहा गया है कि वे जरूरत के मुताबिक जिलों में धारा -144 लागू करवाएं। शांति समितियों की बैठक करके उनका सहयोग प्राप्त किया जाए। डीजीपी ने कहा है कि 6 दिसंबर को पटाखों की दुकानें बंद रखी जाएं। लाइसेंसी शस्त्र और शराब की दुकानों पर सतर्क दृष्टि रखी जाए। संदिग्ध छतों की जांच कर देख लिया जाए कि कहीं ईंट-पत्थर, तेजाब की बोतल आदि तो एकत्र नहीं की गई हैं। अफवाह फैलाने वालों पर सतर्क निगाह रखी जाए। अगर किसी भी तरह से कोई अफवाह फैले तो तत्काल उसका खण्डन किया जाए।

Lucknow : महानगर में रची गई थी ट्रेन हादसे की साजिश!
विवादित ढांचा गिराए जाने की 25वीं बरसी से एक दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद केस को 2019 के लोकसभा चुनाव तक टालने की दलील को खारिज कर दिया है। कोर्ट की तरफ से कहा गया है कि इस पर अंतिम सुनवाई जारी रहेगी और इसके लिए अगली तारीख 8 फरवरी तय की गई है। सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से पक्ष रखते हुए वकील और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि इसका राजनीतिक फायदा लिया जा सकता है। जबकि, दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से पूछा है कि वे बताएं कि राम मंदिर मुद्दे पर उनका क्या रुख है।

आशंका : लूटपाट व चोरी के दौरान हुई लुसी की हत्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here