Home लखनऊ उत्तर प्रदेश इन्वेस्टर्स समिट सुरक्षा में 9 एसपी 35 एएसपी 80 डीएसपी...

उत्तर प्रदेश इन्वेस्टर्स समिट सुरक्षा में 9 एसपी 35 एएसपी 80 डीएसपी सहित भारी पुलिस की बड़ी फौज तैनात

950
0
SHARE

लखनऊ। उत्तर प्रदेश इंवेस्टर्स समिट इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान गोमती नगर लखनऊ में कार्यक्रम का शुभारंभ 21 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं 22 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कार्यक्रम का समापन करेंगे। इस कार्यक्रम में देश-विदेश के उद्योगपति, बहुराष्ट्रीय कंपनियों के चेयरमैन, सीईओ राष्ट्रप्रमुख, गवर्नर व केंद्रीय मंत्रिमंडल के मंत्रीगण व अन्य सम्मानित अतिथिगण आगमन कर रहे हैं। जिसकी सुरक्षा-व्यवस्था के लिए लखनऊ के अतिरिक्त उत्तर प्रदेश के अन्य जिलों से राजपत्रित/अराजपत्रित अधिकारी/कर्मचारीगण भी लखनऊ पहुंच चुके हैं जिनकी ड्यूटी भी लगा दी गई है।
इतने पुलिस अधिकारी ड्यूटी में रहेंगे तैनात
सोमवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान एडीजी जोन लखनऊ राजीव कृष्णा, आईजी जोन सुजीत पांडेय और एसएसपी लखनऊ दीपक कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री के आगमन पर सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए करते हुए 9 एसपी, 35 एडिशनल एसपी, 80 डिप्टी एसपी, 55 SHO/SO, 625 सब इंस्पेक्टर, 60 महिला एसआई, 80 हेड कांस्टेबल/HCP, 3200 कांस्टेबल, 300 महिला कांस्टेबल, 11 ट्रैफिक इंस्पेक्टर, 262 टीएसआई/ट्रैफिक HCP, 104 ट्रैफिक हेड कांस्टेबल, 800 कांस्टेबल ट्रैफिक और 13 कंपनी पीएसी, 8 कंपनी CPF तैनात की गई है।
अमौसी एयरपोर्ट-
अमौसी एयरपोर्ट पर पुलिस व्यवस्था दो भागों में क्रमशः इनर कार्डेन और आउटर कार्डेन में किया गया है। एयरपोर्ट के संपूर्ण व्यवस्था के प्रभारी पुलिस अधीक्षक अरविंद भूषण पांडेय रहेंगे। जिनके अंतर्गत 2 अपर पुलिस अधीक्षक 4 पुलिस उपाधीक्षक व पर्याप्त पुलिस बल की ड्यूटी लगाई गई है। सुरक्षा के लिए क्यूआरटी व डेढ़ कंपनी पीएसी तैनात रहेगी।
मार्ग व्यवस्था-
इन्वेस्टर्स समिट 2018 कार्यक्रम के दृष्टिगत लखनऊ के चार यातायात व्यवस्था संचालित किए जाने के लिए पर्याप्त पुलिस बल की ड्यूटी लगाई गई है। VVIP के आगमन के ध्यान में रखते हुए यातायात व्यवस्था व डायवर्जन किया जाएगा। यह मार्ग अमौसी एयरपोर्ट से इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान तक शहर के मुख्य मार्गो पर ड्यूटी लगाई गई है।
VVIP मार्ग व्यवस्था के लिए 2 पुलिस अधीक्षक क्रमशः मुख्यमार्ग व कंटीजेंसी मुख्यमार्ग के प्रभारी का उत्तरदायित्त्व दिया गया है। इसके अंतर्गत 8 जोन के प्रभारी अपर पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी लगाए गए हैं। इसके अलावा 16 जोन के सम्पूर्ण मार्ग में पुलिस उपाधीक्षक व पर्याप्त पुलिसबल लगाया गया है।
फ्लीट व्यवस्था-
वीवीआईपी के कारकेड में पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी प्रभारी के रूप में कार्य करेंगे तथा वार्निंग पायलट व टेल कार के लिए राजपत्रित पुलिस उपाधीक्षक सहित पर्याप्त पुलिस बल की ड्यूटी लगाई गई है। फ्लीट में लगे हुए सभी वाहनों को एंटीसेबोटाज व एंटीमाईन चेकिंग कराई जाएगी।
इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान कार्यक्रम स्थल-
VVIP आगमन के ध्यान में रखते हुए मुख्य कार्यक्रम स्थल इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान पर मुख्य VVIP कार्यक्रम स्थल 3 पुलिस अधीक्षक की ड्यूटी लगाई गई है। जिनके सहयोग से 14 अपर पुलिस अधीक्षक, 33 पुलिस उपाधीक्षक की ड्यूटी लगाई गई है।

सिपाही के घर शादी समारोह में दोस्त की गोली मर कर हत्या
इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में केंद्रीय मंत्रीगण, जनप्रतिनिधि वीवीआईपी, वीआईपी डेलीगेट्स के अलग-अलग रास्तों से आमंत्रण पत्र के आधार पर ही प्रवेश के लिए अनुमान रहेंगे। सभी प्रवेश मार्गों पर पर्याप्त पुलिस बल की ड्यूटी लगाई गई है। जिनके प्रभारी अपर पुलिस अधीक्षक, क्षेत्रीय क्षेत्राधिकारी व जिले के थाना प्रभारी की ड्यूटी लगाई गई है। कार्यक्रम स्थल पर कड़े प्रवेश नियंत्रण के अंतर्गत सभी प्रवेश मार्गों पर केंद्रीय सुरक्षा बल व पीएसी, पुलिस बल की ड्यूटी लगाई गई है।
इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान के चारों और मल्टी स्टोरी बिल्डिंग में आवासीय फ्लाइट व बिजनेस हव, महत्वपूर्ण सरकारी भवन उपस्थित हैं जिसके फलस्वरुप ये एरिया व्यस्ततम क्षेत्र में आता है। कार्यक्रम के दौरान किसी भी प्रकार का ड्रोन कैमरा पैरा ग्लाइडिंग बैलून व किसी भी प्रकार के अन्य वस्तुएं प्रतिबंधित रहेंगी।
पीएसी अर्धसैनिक बलों की नियुक्ति
प्रधानमंत्री व अन्य विशिष्ट अतिथियों के कार्यक्रम में प्रतिभाग किए जाने के दृष्टिगत 13 कंपनी पीएसी व 8 कंपनी अर्धसैनिक बल की ड्यूटी लगाई गई है।
एटीएस/एनएसजी कमांडो की नियुक्ति
वर्तमान समय में राष्ट्र में विभिन्न अलगाववादी, आतंकी, विघटनकारी व अन्य दहशतगर्दों से निपटने के लिए एटीएस एनएसजी कमांडो से कार्यक्रम के सुरक्षा की जाएगी।
सीसीटीवी/ड्रोन
इन्वेस्टर समिट के कार्यक्रम व सभी प्रमुख मार्गो की निगरानी के लिए जियो रिलायंस कम्युनिकेशन भारती एयरटेल के सहयोग से पर्याप्त मात्रा में सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं।
चिकित्सालयों की सुरक्षा
प्रधानमंत्री व अन्य विशिष्ट अतिथियों के कार्यक्रम में प्रतिभाग किए जाने के ध्यान में रखते हुए एसजीपीजीआई, डॉ. राम मनोहर लोहिया, केजीएमयू, ट्रामा सेंटर, सिविल अस्पताल एवं जिले के अन्य प्रमुख चिकित्सालयों को अलर्ट स्थिति में रखे जाने के निर्देश दिए गए हैं।
आकस्मिक सेवाएं
उच्च न्यायालय द्वारा रिट याचिका संख्या 6825 (एम/बी)/ 2010 (पीआईएल) वी द पीपुल बनाम यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में 17 मई 2017 को पारित आदेशों के द्वारा वीवीआईपी विजिट के समय आपातकालीन सेवाएं तथा एंबुलेंस फायर ब्रिगेड इत्यादि के प्रमुख अस्पतालों तक पहुंचने की वैकल्पिक व्यवस्था यातायात पुलिस द्वारा की गई है। इसके लिए सभी अधिकारी कर्मचारियों को उचित दिशा निर्देश पहले ही दिए जा चुके हैं।

पुलिस की जानकारी में हुई आतिशबाजी से झोपड़पट्टी में लगी आग, मासूम की मौत
इन्वेस्टर समिट 2018 का शुभारंभ 21 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे जबकि समापन 22 फरवरी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद करेंगे। इससे पहले भी राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री लखनऊ में आ चुके हैं। इनके भ्रमण सकुशल संपन्न कराए जाने में लखनऊ पुलिस प्रशासन के आपसी समझ से कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने में अभूतपूर्व योगदान रहा है। पुलिस अधिकारियों ने विश्वास जताया है कि इन्वेस्टर्स समिट एक अभूतपूर्व आयोजन है इसका भी सफल आयोजन कड़ी सुरक्षा के बीच संपन्न होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here