Home उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश में बाढ़ का कहर, दो तहसीलों से संपर्क टूटा

उत्तर प्रदेश में बाढ़ का कहर, दो तहसीलों से संपर्क टूटा

345
0
SHARE

बलरामपुर। राप्ती का जलस्तर रिकार्ड तोडऩे के बाद घटने लगा है। बुधवार सुबह 10 बजे नदी का जल स्तर 105.50 मीटर दर्ज किया गया। इससे पूर्व वर्ष 2014 में जल स्तर 105.51 मीटर रहा था। अधिकतम जल स्तर के कारण जिले के करीब 350 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं। स्थानीय प्रशासन द्वारा सेना को अलर्ट पर रखा गया है। एनडीआरएफ व पीएसी पहले ही राहत एवं बचाव कार्य में लगी है। सड़क पर पानी आ जाने से जिला मुख्यालय का दोनों तहसीलों से संपर्क टूटा हुआ है।

यह भी पढें:-जानिये क्यों करते यहां के लोग ज्यादा सेक्स
राप्ती नदी के दूसरी ओर बसे गांवों में राहत पहुंचाने में प्रशासन को दिक्कत आ रही है। राप्ती के वेग के चलते कोई भी मोटरबोट अथवा नाव नदी को पार नहीं कर पा रही है। राप्ती के दूसरी ओर बसे ग्रामवासियों को राहत पहुंचाने के लिए डीएम राकेश कुमार मिश्र ने स्वयं मोर्चा संभाला है। सुबह डीएम व सांसद रेलगाड़ी से राहत सामग्री लेकर नदी के उस पार गए। उनके साथ एनडीआरएफ टीम रबर की मोटरबोट व अन्य साजो सामान लेकर गई है।

यह भी पढें:-काजी ने जारी किया फरमान नहीं गायेंगे मुस्लिम राष्ट्रगान

गैंजहवा रेलवे स्टेशन के बाहर मौजूद कई बाढ़ पीडि़तों को खाने के पैकेट दिए गए। बलरामपुर नगर के निचले इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है। नगर के पहलवारा मोहल्ले में नाव लगानी पड़ी है। तुलसीपुर-बलरामपुर मार्ग पर बने बंधे से बाढ़ का पानी ओवरफ्लो हो गया था। जिसके लिए प्रशासन ने इंतजाम किये हैं। बांध के ऊपर बालू भरी बोरिया लगाई गई हैं।

यह भी पढें:-दरोगा ने वकीलों से मारपीट कर लूटा पैसा

पानी के दबाव के कारण तटबंध के कटने का खतरा बढ़ गया है। बांध में दरार आयी तो शहर में बाढ़ का पानी घुस जायेगा। जिससे भारी तबाही होगी। जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने बताया कि पर्याप्त मात्रा में नाव मंगा कर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में भेजा गया है। बलरामपुर-तुलसीपुर बौद्ध परिपथ व बलरामपुर-उतरौला मार्ग पर पानी आ जाने से दोनों सड़कों पर आवागमन ठप हो गया है। बाढ़ की स्थिति को देखते हुए कक्षा आठ तक के सभी स्कूलों को बंद करने के आदेश जारी किए गए हैं।

यह भी पढें:-जानिये क्यों करते यहां के लोग ज्यादा सेक्स

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here