Home उत्तर प्रदेश दरोगा ने दलित लड़की से बस में की छेड़छाड़, यात्रियों ने की...

दरोगा ने दलित लड़की से बस में की छेड़छाड़, यात्रियों ने की चप्पल से पिटाई

1009
0
SHARE

लखनऊ | पुलिस विभाग को शर्मसार कर रहे वर्दीधारियों की करतूत से महकमें का अभी हाल ही में पुलिस विभाग का सीना सहारनपुर में तैनात एचसीपी भूपेंद्र सिंह तोमर ने गर्व से चौड़ा कर दिया था। अपनी विवाहित बेटी की मौत की खबर मिलने के बावजूद एचसीपी भूपेंद्र ने सड़क पर घायल पड़े युवक को अस्पताल भिजवाना ज्यादा जरूरी समझा, ताकि घायल की जिंदगी बच सके। भूपेंद्र ने कहा था कि मेरी ज्योति तो बुझ गई लेकिन मैं किसी के घर का चिराग नहीं बुझने दूंगा।

बहराइच में दिनदहाड़े गला काट कर किशोरी की हत्या

सोशल मीडिया पर पुलिस की ड्यूटी क्या होती है, यह कोई भूपेंद्र से सीखे ये बातें खूब वायरल हो रही थी। उनके इस जज्बे को लोग अभी भी सलाम कर उन्हें प्रशंसा दे रहे हैं। जबकि पिछले महीने यूपी-100 के तीन पुलिसकर्मियों की करतूत की वजह से पुलिस विभाग शर्मसार हुआ था। इन सिपाहियों ने सड़क हादसे में घायल युवकों को गाड़ी गंदी न हो इसलिए अस्पताल में भर्ती नहीं कराया था इसमें उनकी मौत हो गई थी। इस मामले में तीनों पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया था।

ट्रैक पार करते समय दोनों पटरियों पर आई गईं ट्रेन, पांच की मौत

दलित लड़की से बस में छेड़छाड़ पर धुना गया आरोपी दरोगा
ताजा मामला जौनपुर जिला का है। यहां बस स्टॉप पर उस समय अफरा-तफरी मच गई जब एक दरोगा को यात्रियों ने चप्पल, लात और घूसों के थप्पड़ों के साथ जमकर पीट दिया। तस्वीरों में पिट रहा एसके त्रिपाठी नाम का ये दरोगा ललितपुर कोतवाली में तैनात है। बताया जा रहा है कि दरोगा घर से रोजाना आता जाता है। रोज की तरह रविवार रात को भी दरोगा ड्यूटी समाप्त करके ललितपुर से उरई स्थित अपने घर जा रहा था। यात्रियों के अनुसार, शराब के नशे में धुत दरोगा रोडवेज बस में बैठी नाबालिग दलित लड़की से छेड़छाड़ करने लगा।

पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंपा गया श्रीदेवी का पार्थिव शरीर, कल होगा अंतिम संस्कार

किशोरी ने शोर मचाया तो वह लोगों को धमकाने लगा। बस में आरोपी दरोगा का तांडव चलता रहा। यात्रियों ने इसकी सूचना 100 नंबर डायल कर पुलिस को दी लेकिन पुलिस नहीं पहुंची। बस जैसे ही जौनपुर जिला के देवनागर चौराहे पर रुकी तो यात्रियों ने शोर मचा दिया। इस दौरान यात्रियों और स्थानीय लोगों ने दरोगा को जमकर धुन दिया। घटना से मौके पर हंगामा होने लगा।

सड़क हादसे में लेखपाल गंभीर रूप से घायल, इलाज के दौरान मौत

सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस आरोपी दरोगा को थाने ले गई। पीड़िता ने इस संबंध में तहरीर दी है। पुलिस कार्रवाई की बात कह रही है। अब सवाल है कि जब जनता के रक्षक ही भक्षक बन जाएं तो महिलाओं की सुरक्षा कौन करेगा। देखने वाली बात ये होगी कि क्या जिम्मेदार पुलिस अधिकारी इस आरोपी दरोगा पर कोई कार्रवाई करते हैं या नहीं?

दहेज के मांग को लेकर लड़की परेशान, किया आत्महत्या का प्रयास, KKC कालेज में काटी हाथ की नस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here