Home क्राइम लखनऊ में भाजपा युवा मोर्चा के नेता प्रत्यूषमणि त्रिपाठी की हत्या

लखनऊ में भाजपा युवा मोर्चा के नेता प्रत्यूषमणि त्रिपाठी की हत्या

122
0
SHARE

लखनऊ | महानगर में भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश मंत्री प्रत्यूषमणि त्रिपाठी (36) की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई। सोमवार रात वह बादशाहनगर रेलवे स्टेशन के पास लहूलुहान हालत में सड़क पर पड़े मिले। बगल में उनकी बाइक पड़ी थी। राहगीरों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने प्रत्यूषमणि को ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
घटना की खबर फैलते ही भारी संख्या में भाजयुमो कार्यकर्ता व स्थानीय लोग ट्रॉमा सेंटर पहुंच गए और हंगामा शुरू कर दिया। भाजयुमो नेता की हत्या की सूचना पर डीएम कौशल राज शर्मा व एसएसपी कलानिधि नैथानी मौके पर पहुंचे तो उन्हें कार्यकर्ताओं ने घेर लिया। घरवालों का कहना है कि 25 नवम्बर को प्रत्यूषमणि पर कैसरबाग स्थित उनके आवास के पास हमला हुआ था। उन्हीं हमलावरों पर हत्या का आरोप लग रहा है।
कैसरबाग के तालाब गगनी शुक्ल मोहल्ले में रहने वाले प्रत्यूषमणि त्रिपाठी भाजपा युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश मंत्री थे। एएसपी ट्रांसगोमती हरेन्द्र कुमार ने बताया कि सोमवार रात करीब 11 बजे राहगीरों ने पुलिस कंट्रोल रूम पर फोन करके सूचना दी कि बादशाहनगर रेलवे स्टेशन के बाहर बंद पड़े पम्प के पास एक युवक घायल अवस्था में सड़क पर पड़ा है। उक्त सूचना पर पहुंची पुलिस ने पड़ताल की तो घायल युवक के पास उसकी बाइक भी पड़ी थी। राहगीरों ने इसे सड़क दुर्घटना बताया जिसके बाद पुलिस ने घायल युवक को ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया। वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जांच के दौरान मृतक की शिनाख्त प्रत्यूषमणि त्रिपाठी के रूप में हुई। पुलिस ने परिवारीजनों को फोन करके घटना की जानकारी दी।
ट्रॉमा सेंटर में कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन
प्रत्यूषमणि त्रिपाठी के परिवार में पत्नी सीमा, बेटा वंश, बेटी रूद्राक्षी व दो माह की दुधमुंही बेटी है। पुलिस की सूचना पर सीमा परिवारीजनों के साथ फौरन ट्रॉमा सेंटर पहुंची। पति का शव सामने देख वह बेसुध हो गई। घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल था। उधर, भाजयुमो नेता की हत्या की खबर फैलते ही ट्रॉमा सेंटर में कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लगने लगा। उग्र भीड़ ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन शुरू कर दिया। बवाल की सूचना पर डीएम कौशल राज शर्मा व एसएसपी कलानिधि नैथानी समेत सभी आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए।
छेड़छाड़ के आरोप में हुई थी मारपीट
परिजनों ने बताया कि 25 नवम्बर की रात 10 बजे कैसरबाग के मॉडल हाउस निवासी एक युवती के भाई व उसके साथियों ने प्रत्यूषमणि पर जानलेवा हमला किया था। इस मामले में प्रत्यूषमणि ने युवती व उसके घरवालों के खिलाफ कैसरबाग कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था। वहीं युवती ने भी प्रत्यूषमणि पर छेड़छाड़ और अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई थी। युवती ने आरोप लगाया था कि प्रत्यूषमणि उसे फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज रहे थे जिसे वह एक्सेपट नहीं कर रही थी। इस बात से वह बौखलाए हुए थे। 25 नवम्बर की रात को जब वह कुछ सामान लेने के लिए स्थानीय दुकान पर गई तो प्रत्यूषमणि ने उसे रास्ते में रोककर छेड़छाड़ की थी। इसके विरोध में युवती के भाई ने अपने चार-पांच साथियों के साथ मिलकर प्रत्यूषमणि से मारपीट की थी।
आरोपियों के घर में दबिश
परिजनों का कहना है कि उसी युवती व उसके घरवालों ने मिलकर प्रत्यूषमणि की हत्या की है। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए जमकर हंगामा किया। लोगों को उग्र होता देख पुलिस ने देर रात कैसरबाग के मॉडल हाउस में युवती के घर पर दबिश दी। पुलिस ने युवती के तीन रिश्तेदारों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here