Home उत्तर प्रदेश BJP नेता के भाई की गला दबा हत्या, स्कूटी खड़ी करने को...

BJP नेता के भाई की गला दबा हत्या, स्कूटी खड़ी करने को लेकर हुआ था विवाद

32
0
SHARE

गोरखपुर। भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश महामंत्री और दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालस छात्रसंघ के पूर्व उपाध्यक्ष बंधू उपेन्द्र सिंह के छोटे भाई उद्यान निरीक्षक सत्येन्द्र सिंह उर्फ संजय सिंह की शनिवार की सुबह गला दबाकर हत्या कर दी गई। सत्येंद्र सिंह अपने भाई बंधू सिंह से मिलने मोहद्दीपुर के श्रीरामपुरम स्थित उनके किराए के कमरे पर गए थे। स्कूटी खड़ी करने के विवाद में बगल के एक दम्पति और उनके दो बेटों ने उनकी हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।
देवरिया जिले के रुद्रपुर कोतवाली क्षेत्र स्थित हउली गांव निवासी सत्येन्द्र कुमार सिंह गोरखपुर उद्यान विभाग में प्रभारी निरीक्षक के पद पर तैनात थे। वे मंडलायुक्त कार्यालय के समीप स्थित ट्रांजिट हास्टल में परिवार के साथ रहते थे। उनके बड़े भाई भाजपा नेता बंधू उपेंद्रनाथ सिंह मोहद्दीपुर के श्रीरामपुरम कालोनी में किराए पर कमरा लेकर रहते हैं। बंधू सिंह लम्बे समय बाद शुक्रवार की देर रात कमरे पर लौटे थे। शनिवार की सुबह 9:30 बजे सत्येन्द्र सिंह स्कूटी पर पत्नी संगीता को बैठाकर बड़े भाई के कमरे पर पहुंचे। उन्होंने स्कूटी सड़क के किनारे मकान से सटाकर खड़ी कर दी और पत्नी के साथ भाई के कमरे पर चले गए।
पड़ोस में रहने वाले उमेश चंद्र जायसवाल का बेटा शशांक और सनी वहां पहुंचा और स्कूटी खड़ी देकर गालियां देने लगा। शशांक गालियां दे रहा था कि उसी समय सत्येंद्र सिंह भाई के कमरे से निकलकर नीचे आ गए। उन्होंने शशांक को टोका तो उसने अपने भाई अभिजीत और परिवार के अन्य सदस्यों को बुला लिया। मनबढ़ों ने उनका गला कस दिया। सत्येंद्र सिंह चिल्लाए। आवाज सुनकर बंधू और उनके साथ कुछ और लोग दौड़कर पहुंचे लेकिन तब तक सत्येंद्र सिंह बेहोश होकर गिर चुके थे। बंधू और उनके साथ के लोग सत्येंद्र सिंह को लेकर छात्रसंघ चौराहे पर स्थित एक अस्पताल में पहुंचे। डॉक्टरों ने सत्येंद्र सिंह को देखने के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया।
पुलिस तत्काल हरकत में आई
भाजपा नेता के भाई की हत्या की खबर मिलते ही कैंट थाने की पुलिस तत्काल हरकत में आ गई। कैंट इंस्पेक्टर रवि राय ने अपने सहयोगियों के साथ पहुंचकर उमेश चंद्र जायसवाल, उसकी पत्नी तथा बेटों को गिरफ्तार कर लिया। एसपी सिटी विनय सिंह और सीओ कैंट प्रभात राय भी तत्काल अस्पताल पहुंच गए। भाजपा के नेता तथा बड़ी संख्या में बंधू सिंह के परिचित और समर्थक भी पहुंच गए। पुलिस ने कानूनी कार्रवाई पूरी कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
पुलिस ने दर्ज किया हत्या का मुकदमा
बंधू उपेन्द्र नाथ सिंह की तहरीर पर पुलिस ने उमेश चंद्र जायसवाल, उसकी पत्नी संध्या, पुत्र शंशाक जायसवाल उर्फ सनी व अभिजीत जायसवाल के खिलाफ हत्या सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।
सत्येंद्र के सबसे बड़े भाई हैं दरभंगा जिला जज
सत्येन्द्र उर्फ संजय सिंह अपने भाइयों में छठे नम्बर पर थे। उनके सबसे बड़े भाई अरुणेन्द्र कुमार सिंह दरभंगा बिहार के जिला जज हैं। दूसरे नम्बर के अशोक सिंह मदन मोहन मालवीय इंटर कॉलेज भाटपाररानी देवरिया में लेक्चरर हैं। तीसरे नम्बर के आनंद स्वरूप सिंह बीएचयू में संगीत के टीचर हैं। चौथे नम्बर के बंधू उपेन्द्र नाथ सिंह भाजपा नेता और पांचवे नम्बर के गुड्डू सिंह प्राइवेट नौकरी करते हैं। छठे नम्बर के सत्येन्द्र सिंह थे। उनसे छोटे सुनील सिंह हैं जो अपना पेट्रोल पम्प देखते हैं। सत्येन्द्र सिंह को बेटा तन्मय सिंह और बेटी नंदिनी सिंह हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here