Home उत्तर प्रदेश लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार पर जानलेवा हमला, मुकदमा दर्ज

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार पर जानलेवा हमला, मुकदमा दर्ज

434
0
SHARE

लखनऊ। पत्रकारों पर हो रहे हमलों ने प्रशासन की कानून व्यवस्था की पोल खोलकर रख दी है। राजधानी में पत्रकारों पर इससे पहले भी कई बार हमले हो चुके हैं उसके बावजूद भी सरकार उससे चेतने को तैयार नहीं है। राजधानी लखनऊ में वर्षों से पत्रकारिता कर रहे एक वरिष्ठ पत्रकार पर आरटीओ में तैनात लिपिकों ने जानलेवा हमला कर दिया। हमले में पत्रकार के सर पर गंभीर चोटें आई हैं। लिपिकों ने पत्रकार को जान से मारने की धमकी देते हुए लूटपाट की। इस संबंध में पत्रकार ने थाना सरोजिनी नगर में लिपिकों के खिलाफ लूटपाट सहित मारपीट की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कराया है। साथी ही राज्य मुख्यालय मान्यता प्राप्त पत्रकार समिति के पदाधिकारियों ने घटना की निंदा करते हुए मुख्य सचिव सहित एडीजी एलओ से इस घटना की निष्पक्ष जांच कराकर अपराधियों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई करने की मांग की है।
जानकारी अनुसार वरिष्ठ पत्रकार राजेंद्र प्रसाद अपने आरटीओ में तैनात लिपिक श्यामल गांगुली और विनय शाही के खिलाफ खबर प्रकाशित किया था। बकौल उनके मंगलवार को आरटीओ कार्यालय में 16 नंबर कमरे में बैठकर कुछ लोगों से वार्ता कर रहे थे। उसी दौरान श्यामल गांगुली और विनय शाही आ गए और गाली-गलौज करते हुए कहने लगे कि तू बहुत खबर लिखता है। आज की पिटाई के बाद से खबर लिखना भूल जाएगा। श्यामल गांगुली ने पत्रकार के सर पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। वहीं विनय शाही ने डंडे से पत्रकार के पीठ और पैरों पर कई बार किये। मारपीट के दौरान लिपिकों ने पत्रकार की अंगूठियां भी छीन ली। मारपीट और शोर शराबा की आवाज सुन आसपास के कर्मचारियों ने बीच बचाव करते हुए पत्रकार को उनके चुंगल से छुड़ाया। वरिष्ठ पत्रकार ने सरोजिनी नगर थाने में लिपिकों के खिलाफ लूटपाट सहित मारपीट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। हम आपको बता दें राजेंद्र प्रसाद मौजूदा समय में हिंदी दैनिक प्रहरी मीमांसा कार्यरत हैं। इसके अलावा राज्य मुख्यालय से मान्यता प्राप्त पत्रकार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here