Home उत्तर प्रदेश पत्रकार हत्याकांड : घटना के 48 घंटे बाद संदिग्ध का स्केच जारी

पत्रकार हत्याकांड : घटना के 48 घंटे बाद संदिग्ध का स्केच जारी

1199
0
SHARE

कानपुर| पत्रकार नवीन गुप्ता की गोली मारकर हत्या के मामले में भारी दबाव के बाद 48 घंटे बाद पुलिस ने एक संदिग्ध का फोटो जारी किया है। इस मामले में पुलिस महज जांच और लोगों को उठाकर पूछताछ कर खानापूरी कर रही है। संदिग्ध का फोटो भी तब जारी किया गया है जब पुलिस अधिकारी इस बात का दावा कर चुके हैं कि घटना को अंजाम देने वालों को जिन्होंने देखा वह पुलिस के सामने आने को तैयार नहीं हैं।

अपराधियों के हौसले बुलंद. गश्त के दरोगा को मारी गोली
पुलिस द्वारा जारी की गई संदिग्ध की फोटो के बारे में अधिकारियों का कहना है कि उसकी उम्र 28-30 साल की है। लंबाई 5 फुट 6 इंच बताई गई है। संदिग्ध के बारे में और कोई भी जानकारी पुलिस नहीं दे सकी है। एसएसपी का कहना है कि यह संदिग्ध सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ है। जबकि घटना वाले दिन जब आईजी रेंज ने घटनास्थल पर पहुंचकर सीसीटीवी कैमरों का निरीक्षण किया था तो उसमें से आधे से ज्यादा कैमरे खराब निकले थे।

अयोध्या मामले के 25वीं बरसी पर उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट
आधा दर्जन और लोगों को पुलिस ने उठाया
रविवार को पुलिस ने फिर आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है। अब तक करीब दो दर्जन लोगों को उठाया जा चुका है। इस मामले में पुलिस अफसर महज इस बात से दिलासा दे रहे हैं कि जांच चल रही है। जल्द खुलासा कर लिया जाएगा। नवीन हत्याकांड में पुलिस ने शनिवार को एक युवक को उठाया था। उसके बारे में यह बताया गया कि सीसीटीवी कैमरे में उसके फुटेज आए हैं। जब युवक से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि उसके परिवार में कोई चुनाव जीता था जिसकी प्रेस रिलीज वह नवीन को देने गया हुआ था। घटना से जुड़े किसी पहलू के बारे में उसे कोई जानकारी नहीं है।
एक चौथाई सदी में देश का राजनीतिक इतिहास बदल गया
सनसनीखेज वारदात से पहले नवीन एक अन्य युवक को अपना मोबाइल देकर बाथरूम गया था। उसके बाद ही उसकी गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस मामले में पुलिस ने दूसरे मोबाइल की लोकेशन निकलवाई तो वह घटनास्थल की ही निकली। शनिवार देर रात पुलिस ने उस युवक को पकड़ भी लिया जिसे नवीन मोबाइल देकर गया था। पुलिस ने जब उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसने बताया कि नवीन को गोली मारने के बाद वहां भगदड़ मच गई थी। जिस पर वह भी मोबाइल वहीं छोड़कर भाग निकला था। मोबाइल हैंडसेट गिरकर गायब हो गया। जब उसकी लोकेशन निकलवाई गई तो घटनास्थल की ही आखिरी लोकेशन निकली। फिलहाल मोबाइल स्विच ऑफ बता रहा है।
Lucknow : महानगर में रची गई थी ट्रेन हादसे की साजिश!
लखनऊ से आई एसटीएफ और क्राइम ब्रांच की टीम मामले में तीन बिन्दुओं पर जांच कर रही है। नवीन के फोन की सीडीआर (कॉल डीटेल रिपोर्ट) से पुलिस को कुछ नम्बरों के ऊपर भी शक गया है। इन नम्बरों की डीटेल भी निकलवाई जा रही है। पारिवारिक बिन्दु के अलावा चुनावी बिन्दु समेत एक अन्य बिन्दु पर जांच को आगे बढ़ाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here