Home Uncategorized सरोजनीनगर : हत्यारोपी पत्नी प्रेमी संग गिरफ्तार, मुख्य आरोपी की तलाश 

सरोजनीनगर : हत्यारोपी पत्नी प्रेमी संग गिरफ्तार, मुख्य आरोपी की तलाश 

904
0
SHARE

पत्नी के प्रमी ने की थी मजदूर की हत्या
लखनऊ। सरोजनीनगर के हुल्लीखेड़ा गांव के पास मजदूर श्याम बाबू रावत की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि सात फेरे लेकर जिंदगी भर साथ निभाने वाली उसकी कलयुगी पत्नी मंजू ने अपने तीसरे प्रेमी बबलू के साथ मिलकर की थी। प्रेमी बबलू ने 28 जनवरी की रात श्याम को शराब पिलाकर चाकू से उसका गला रेतकर मार डाला था। इसका राजफाश कर इंस्पेक्टर सरोजनीनगर धर्मेश कुमार शाही ने बंथरा के सिकन्दरपुर गांव निवासी कमलेश उर्फ गनेशी व हत्यारन पत्नी मंजू को गिरफतार कर किया है। जबकि मुख्य हत्यारोपित बबलू अभी पुलिस की पकड़ से दूर है। इंस्पेक्टर का कहना है कि उसकी तलाश में उसके संभावित ठिकनों पर दबिश दी जा रही है।

राज्यपाल से मिले ब्रिटेन के उच्चायुक्त सर डोमेनिक अस्क्विथ
बंथरा के हिन्दूखेड़ा गांव निवासी 35 वर्षीय श्याम बाबू रावत मजदूरी कर परिवार चलाता था। परिवार में उसकी पत्नी मंजू व 14 वर्षीय बेटा राहुल है। सोमवार की सुबह श्याम का खून से लथपथ शव सरोजनीनगर के हुल्लीखेड़ा गांव के पास स्थित सड़क किनारे पड़ा मिला था। इंस्पेक्टर सरोजनीनगर धर्मेश कुमार शाही के मुताबिक इस मामले में गहनता छानबीन की गई तो मृतक की पत्नी मंजू की कई बातें विरोधाभास निकल रही थी। जब पुलिस ने मंजू को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो वह अपना जुर्म स्वीकार कर लिया।

राज्यपाल ने शहीद दिवस पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की

आरोपित मंजू ने पुलिस को बताया कि उसका पति तीन साल पहले विदेश गया था, इसी बीच मयंक नाम के युवक से अवैध संबध हो गया इसके बाद बबलू नाम के व्यक्ति से फिर गनेशी से हो गया था। आरोपित के मुताबिक उसका पति आये दिन मारपीट करता था, जिससे अपने प्रेमी बबलू के साथ पति को हमेशा के लिए रास्ते से हटाने के लिए योजान बना डाली और प्रेमी से पति श्याम को मौत के घाट उतरवा दी। फिलहाल पुलिस ने 24 घंटे के भीतर इस सनसनीखेज का खुलासा कर हत्यारन मंजू व प्रेमी गनेशी को गिरफतार कर लिया, जबकि मुख्य हत्यारोपित बबलू अभी पुलिस की पकड़ से दूर है।

राज्यपाल ने शहीद दिवस पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की
तीन ही नहीं दर्जन भर थे हत्यारन के प्रेमी
आखिर समाज किधर जा रहा है, जिस पर एक पति अपनी जान न्योछावर करने के लिए तैयार रहता था और वहीं पत्नी पति को प्रेमी के साथ मिलकर मारा डाला। बताया जा रहा है कि हत्यारोपित मंजू के एक दो लोगों से अवैध संबध नहीं बल्कि दर्जन भर लोगों से था। एक को छोड़ती तो दूसरे को पकड़ती थी। इससे यही लग रहा है कि इसका पति के प्रति कोई लगाव नहीं था और पति श्याम के लिए कातिल बन गई। इंस्पेक्टर का कहना है कि जांच पड़ताल में सामने आया है कि आरोपित मंजू का अवैध संबध कई लोगों से है। फिलहाल चंद रूपयों की लालच ने मंजू को कातिल बना दिया और बेटे के लिए हमेशा एक टीस जैसा काम कर बैठी।

स्थापना दिवस : मेरे लाडले गणेश प्यारे-प्यारे’ से…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here