Home उत्तर प्रदेश बदमाशों की गोली से सब इंस्पेक्टर शहीद

बदमाशों की गोली से सब इंस्पेक्टर शहीद

638
0
SHARE

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जनपद में कुख्यात बबली कोल गैंग को पकडऩे के लिए जाल बिछाए बैठी पुलिस पर डकैतों ने गोलियों की बौछार कर दी। पुलिस व डकैतों के बीच भारी गोलीबारी में एक सब इंस्पेक्टर शहीद हो गया। वहीं कई डकैतों को पकडऩे गए कई पुलिस वाले भी गोली लगने से घायल हो गए हैं। हालांकि अभी तक किसी भी डकैत के पकड़े जाने की पुष्टी नहीं हुई है।

यह भी पढें:-किशोरी का कटा हाथ, डॉक्टरों ने 11 घंटे आपरेशन के बाद जोड़ा
चित्रकुट जिले में गुरुवार सुबह स्थानीय पुलिस बबली कोल व उसकी गैंग के डकैतों को पकडऩे पहुंचे। बबली कोल कुख्यात अपराधियों में शामिल है। इस पर करीब ६ लाख रूपये का ईनाम की घोषित किया गया है। योजना के आधार पर पुलिस टीम गुप्त सूचना के आधार पर इन्हें थाना मानिकपुर क्षेत्र में निही चिरैया के जंगलों में डकैतों को घेर लिया। लेकिन इसके बाद उन्होंने पुलिस टीम पर ताबड़तोड़ गोलीबारी शुरू कर दी।

यह भी पढें:-बहन के प्रेमी का भरी पंचायत में काटी गर्दन

एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने बताया कि फिलहाल मुठभेड़ जारी है। इस मुठभेड़ में एक सब इंस्पेक्टर जय प्रकाश सिंह की डकैतों की गोली लगने से मौत हो गई है। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में मोबाइल नेटर्वक बहुत कमजोर हैं, जिससे पुलिस टीम से संपर्क करने में दिक्कत आ रही है। सीनियर अफसरों को मौके पर भेज दिया गया है। कुमार ने बताया कि मुठभेड़ में दो डकैतों के घायल होने की आशंका है।

यह भी पढें:-फैसले के एक दिन पहले दोनों शहरों में प्रतिबंध, 29 ट्रेने चार दिन के लिए रद्द

मौके पर अतिरिक्त फोर्स भेजी गई है। वहीं जानकारी के मुताबिक पुलिस की गोली से घायल एक डकैत को पकड़ लिया गया है, जिसका अस्पताल में इलाज जारी है। वहीं अन्य को पकड़े के लिए प्रयास जारी है। सब इंस्पेक्टर जेपी सिंह चित्रकुट जिले में रैपुरा थाने में तैनात थे। सुबह इनामी बबुली कोल गैंग के जंगलों के आस-पास होने की सूचना मिली थी। इस पर दो टीमें मौके पर घेराबंदी के लिए भेजी गई।

यह भी पढें:-संप्रेक्षण गृह का मामला : पीएम रिपोर्ट से उलझी किशोर की मौत की गुत्थी

इस टीम में जेपी सिंह भी शामिल थे। डकैतों की अचनाक फायरिंग में पुलिस ने जवाबी फायरिंग शुरू की। इस मुठभेद में जेपी सिंह के पेट, हाथ और पैर में गोलियां लगी। जंगल से बाहर निकाल कर जब तक उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया, उनकी सांसे थम चुकी थी। शहीद सब इंस्पेक्टर जेपी सिंह मूलत: जौनपुर के बनोवरा गांव के रहने वाले थे।

यह भी पढें:-सिटी बस ने महिला को कुचला, पांच घंटे चला प्रदर्शन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here