Home उत्तर प्रदेश बारिश से टूटा 109 साल का रिकार्ड, 33 लोगों की मौत, सेना...

बारिश से टूटा 109 साल का रिकार्ड, 33 लोगों की मौत, सेना बचाव कार्य में जुटीं

514
0
SHARE

​​​​​​​बरेली। वेस्ट यूपी में मूसलाधार बारिश का कहर दूसरे दिन भी जारी रहा। मेरठ और आसपास के जिलो में बारिश के कारण हुए हादसों में अब तक 33 लोगों की मौत हो गई, जबकि अनेक लोग घायल हुए। मेरठ में बारिश ने 109 साल का रिकार्ड तोड़ दिया। मौसम विभाग के अनुसार वर्ष 1909 के बाद 27 जुलाई 2018 को 12 घंटे के भीतर रिकॉर्ड तोड़ 146.8 मिलीमीटर बारिश हुई। देशभर में सबसे ज्यादा बारिश वाले शहरों में मेरठ चौथे स्थान पर रहा। बाढ़ के कहर को देखते हुए बिजनौर में सेना बुलाई ली गई है। सेना और पीएसी के अधिकारियों ने गोताखोरों के साथ बाढ़ राहत दल को भी बुला लिया है। राहत आयुक्त संजय कुमार ने बताया कि प्रभावितों को सहायता राशि बांटने के निर्देश दे दिए गए हैं।

नशे का इंजेक्शन लगाकर किन्नरों ने काटा शादीशुदा का गुप्तांग, किया घर में कैद
शुक्रवार को वेस्ट यूपी में बारिश से 19 लोगों की मौत हुई है। मेरठ में शुक्रवार को खरखौदा के पास रेलवे के अंडरपास में 19 बच्चों से भरी बस डूब गई, जिससे बच्चों की हालत बिगड़ गई। गांववालों ने सभी बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया। मेरठ के इस्लामाबाद में पुलिस चौकी की बिल्डिंग ही गिर गई। दिल्ली-मेरठ-सहारनपुर रेलवे ट्रैक पर जगह-जगह पानी भर जाने से ट्रेनों की रफ्तार मंद पड़ गई। रेलवे ने अलर्ट जारी कर दिया है। रेलवे और रोडवेज को यात्री न होने से दस लाख से ज्यादा का नुकसान हुआ।
सहारनपुर के तीतरो क्षेत्र में मकान की छत गिरने से जसवीर की मौत हो गई, जबकि रामपुर मनिहारन में नमाज पढ़कर घर जा रहे 32 वर्षीय सोनू की बरसात के चलते पाइप में आए करंट से मौत हो गई। वहीं, शाम को इस्लामनगर में मकान ढह गया, जिसमें तीन बच्चों सहित परिवार के पांच सदस्य दब गए। इनमें विनोद की मां बिसला, उसकी पत्नी नीलम और बेटी 3 वर्षीय अन्नू की मौत हो गई।
मुजफ्फरनगर में सिखेड़ा थानाक्षेत्र के जानसठ रोड पर पेपर मिल में टिनशेड-रेलिंग गिरने से इलाहाबाद निवासी प्रोडक्शन मैनेजर विंध्यावासनी तिवारी की मौके पर ही मौत हो गई। मलबे में दबने से दो अन्य भी घायल हो गए। जिले में 55 बिजलीघर ठप होने से सैकड़ों गांवों में अंधेरा छाया हुआ है।
शामली में कई स्थानों पर मकान ढहने से कई लोग घायल। इनमें कुंडाना में एक और कैराना में तितवाड़ा में दो मकान गिरने से दो बच्चियों समेत तीन घायल। छड़ियान मोहल्ले में मकान गिरने से छह बच्चों समेत आठ लोग घायल हुए। कांधला के गंगेरू में मकान गिरने से दंपति को चोटें आई। मोहल्ला खैल में बारिश के चलते मकान में करंट भी दौड़ गया, पर शुक्र रहा कि जानहानि नहीं हुई।

टीवी की मशहूर एक्ट्रेस रीता भादुड़ी का निधन, 10 दिनों से थीं अधिक बीमार
बुलंदशहर के अफजलपुर में रात साढ़े तीन बजे के लगभग एक घर की छत भरभरा कर गिर गई। इस हादसे में गर्भवति निशा देवी की मलबे में दबकर मौके पर मौत हो गई, जबकि गंभीर रूप से घायल सनपत, लवकुश व कौशल को डिबाई के सीएचसी में भर्ती कराया गया।
हापुड़ में तीन मकान ढह गए। नगर क्षेत्र में एक शौचालय की दीवार गिर गई, जिसमें दबकर एक बच्चे की मौत हो गई।
आगरा में बारिश के कारण मरने वालों की संख्या सात तक पहुंच गई, इनमें कासगंज, फिरोजाबाद और एटा के अलीगंज में पांच मासूम बच्चियों की मौत की जान गई, जबकि मैनपुरी में एक मजदूर, आगरा में किसान भी बारिश की भेंट चढ़ गए। वहीं, धान की फसल डूबने पर किसान ने जान दे दी। दूसरी ओर, अलीगढ़ के दादों के सांकरा क्षेत्र में गंगा का जलस्तर 41 हजार क्यूसेक पहुंच गया। बरेली में पहाड़ों पर बारिश ने हालात बिगाड़ दिए हैं। शारदा का जलस्तर शुक्रवार सुबह खतरे के निशान से 98 सेमी ऊपर पहुंच गया, जिससे पलिया इलाके के 11 गांव में बाढ़ का खतरा है।

पारा के कुमारपुरम इलाके में लाखों की चोरी, लोगों ने चोर को दौड़ा कर जमकर धुना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here