Home देश निवेशकों का सारा पैसा अकेले ही हड़प चाहते है पल्स ग्रुप के...

निवेशकों का सारा पैसा अकेले ही हड़प चाहते है पल्स ग्रुप के सीएमडी

162
0
SHARE

लखनऊ | पंजाब प्रान्त में PACL Ltd के द्वारा भूखंड देने के नाम पर एकमुश्त व आसान किस्तों द्वारा भुगतान की योजना चलाई गई और करोड़ों लोगों ने अपने खून पसीने की कमाई उस योजना में निवेश किया| कंपनी में आमजनता का लगभग 49 हजार 100 करोड़ रुपया जमा हो गया| इसके बाद PACL Ltd कंपनी को सेबी द्वारा प्रतिबंधित कर दिया गया| जिसके बाद कंपनी में काम करने वाले लगभग 30 लाख एजेंट अचानक से सड़क पर आ गए| माननीय सुप्रीम कोर्ट ने 2 फरवरी 2016 को पूर्व जज आरएम लोढ़ा की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया लेकिन कई वर्ष बीतने के बाद भी आमजनता को न्याय नहीं मिला|

न्नाव में महिला के साथ पांच दरिंदों ने किया सामूहिक दुष्कर्म
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ आये राज्य पंजाब के महेन्द्रपाल सिंह दानगढ़ ने बताया कि ( सेबी) आफिस में 21 जून 2018 को करीब सैकड़ो लोगों ने भारतीय निवेशक सुरक्षा मंच के बैनल तले पंचायत की| जिसमें पूरे भारत में फैले पल्स ग्रुप के सीएमडी निर्मल सिंह भंगू ने 1956 में PACL Ltd नाम से एक रियल स्टेट कंपनी शुरू की| जिसे भारत सरकार के MCA व DCA विभाग से स्वीकृति मिली हुई थी| PACL Ltd के द्वारा भूखंड देने के नाम पर एकमुश्त व आसान किस्तों द्वारा भुगतान की योजना चलाई गई और करोड़ों लोगों ने अपने खून पसीने की कमाई को PACL Ltd की योजना से आकर्षित होकर कंपनी में निवेश किया|

शूटरों से कराई गई थी अधिवक्ता लाल बचन सोनी की हत्या

फलस्वरुप कंपनी में लोगों का लगभग 49 हजार 100 करोड़ रुपया जमा हो गया| इसके बाद PACL Ltd कंपनी को सेबी द्वारा प्रतिबंधित कर दिया गया| इस स्थिति में कंपनी में काम करने वाले लगभग 30 लाख एजेंडों का क्या दोष है| वह अपने जीवन के 18 से 20 अमूल्य वर्ष कंपनी में लगाने के बाद अचानक से सड़क पर आ गए| बेरोजगार हो गए साथ ही निवेशकों के अतिरिक्त दबाव के कारण अपना घर तक छोड़ने को मजबूर हो गए| यही नहीं कुछ के तो मानसिक संतुलन पर भी विपरीत प्रभाव पड़ रहा है| जिससे वह आत्महत्या कर रहे हैं| अधिकांश दबंग निवेशक जिनका मोटा पैसा पल्स कंपनी में जमा है| वह अपने एजेंट के साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं और उनके घर, जमीन मोटरसाइकिल, ट्रैक्टर-ट्राली, गाय व भैंस पर भी कब्जा कर रहे हैं और तो और उनके परिवार को जान से मारने की धमकी पहुंचा रहे हैं|

राखंड में हादसे खाई में गिरी बस, 45 लोगों के मरने की सूचना
PACL Ltd के निवेशकों का रुपया निवेशकों को वापस लौटाने के लिए माननीय सुप्रीम कोर्ट ने दिनांक 2 फरवरी 2016 को पूर्व जज आरएम लोढ़ा की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया| किंतु आज तक पूरे भारत में किसी भी निवेशकों का एक भी रुपया लौटाया नहीं गया| जिसके कारण PACL Ltd के करोड़ों निवेशक स्वयं को ठगा सा महसूस कर रहे हैं| महेन्द्रपाल ने ये भी बताया कि पल्स ग्रुप के सीएमडी निर्मल सिंह भंगू के ऊपर भारत सरकार के दो बड़े दिग्गज नेता अरूण जेटली व राजनाथ सिंह ग्रहमंत्री भारत सरकार का संरक्षक प्राप्त है| जिसके चलते भारत के करोड़ों निवेशकों का पैसा नहीं मिल रहा| इससे साफ जाहिर होता है कि भारत के दो बड़े नेता सुप्रीम कोर्ट के आदेश भी नहीं मानते है, क्योंकि निवेशकों का सारा पैसा अकेले ही हड़प करना चाहते है| इसलिए अभी तक किसी भी निवेशक को न्याय नहीं मिला| अब देखना यह है कि अगर भारत सरकार के बड़े नेता इस मामले में लिप्त है तो इन्हें न्याय कौन दिलायेगा|

की राजधानी दिल्ली में एक ही परिवार के 11 सदस्यों के शव घर में फांसी के फंदे से लटके हुए मिले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here