Home अन्य खबरें अब रिटायरमेंट के दिन मिलेगा पीएफ-पेंशन का पैसा

अब रिटायरमेंट के दिन मिलेगा पीएफ-पेंशन का पैसा

125
0
SHARE

नई दिल्ली (एजेंसी)। सेवानिवृत्त कर्मचारी को अपनी जमा पूंजी यानी भविष्य निधि (पीएफ) और पेंशन को निकालने के लिए धक्के नहीं खाने पड़ेंगे। पीएफ-पेंशन का पैसा अब उन्हें सेवानिवृत्ति (रिटायरमेंट) के दिन ही मुहैया कराया जाएगा। केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने यह जानकारी संसद में दी है।

यह भी पढें:-मजूदर की संदिग्ध हालात में मौत
केंद्रीय मंत्री दत्तात्रेय ने कहा है कि अवकाश प्राप्ति कोष निकाय, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने क्षेत्रीय कार्यालयों को सेवानिवृत्ति के दिन ही पेंशन का निपटारा किए जाने का निर्देश दिया है। इससे सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को बड़ी राहत मिलेगी। उन्हें बार-बार चक्कर काटने के झंझट से छुटकारा मिलेगी और सेवानिवृत्ति के दिन ही पीएफ-पेंशन से जुड़े लाभ मिल जाएंगे। बंडारू से पूछा गया कि क्या सरकार ने पीएफ/ईपीएफ और ग्रेच्युटी का भुगतान रिटायरमेंट के दिन ही करने का फैसला लिया है।

यह भी पढें:-2014 से पुलिस को चकमा दे रहा डकैत गिरफ्तार
इसके जवाब में दत्तात्रेय ने कहा कि जहां तक ग्रेच्युटी का सवाल है, नौकरी छोडऩे या सेवानिवृत्ति के दिन से 30 दिनों के भीतर इसका भुगतान करना अनिवार्य है। जून में सरकार ने यह फैसला लिया था कि कर्मचारी को उसके सेवानिवृत्ति के दिन ही पेंशन भुगतान का आदेश मिल जाए, ताकि परेशानी के बिना वह सम्मान की जिंदगी जी सके।

यह भी पढें:-आगरा लैब का दावा, विधान सभा में मिला संदिग्ध पाउडर पीईटीएन नहीं!
ईपीएफओ के केंद्रीय बोर्ड (सीबीटी) के सदस्य डीएल सचदेवा ने कहा कि पीएफ निकासी और पेंशन जैसे सभी दावों के ऑनलाइन निपटान की व्यवस्था पर काम कर चल रहा था। अब आवेदनों के ऑनलाइन निपटारे को हकीकत का रूप मिलेगा। साथ ही ईपीएफओ के अंशधारकों के लिए जटिल कागजी कार्य समाप्त हो जाएगा जबकि मौजूदा समय पीएफ निकासी दावे में कम से कम तीन माह तक का समय लग जाता था।

यह भी पढें:-जीप पलटने से एक सिपाही की मौत, कोतवाल-दरोगा सहित 7 घायल

इतना ही समय करीब पेंशन निर्धारण के निपटारे में लग जाता था। उन्होंने कहा कि देश में करीब 48.85 लाख केंद्र सरकार के कर्मचारी और 55.51 लाख पेंशन प्राप्तकर्ता है।
यह केन्द्र सरकार की नौकरी-पेशा लोगों के लिए सामाजिक सुरक्षा योजना है। मान लीजिए आपका वेतन 15,000 रुपये प्रति माह है तो इस ईपीएफ में शामिल होना आपके लिए अनिवार्य है।

यह भी पढें:-माया का इस्तीफा नहीं होगा मंजूर!

अगर आप नौकरी करते हैं तो आपकी कंपनी आपके वेतन से एक हिस्सा काटकर आपके ईपीएफ खाते में डाल देती है। इस पैसे को सरकार के इस कोष में डाल दिया जाता है। संबंधित कर्मचारी जरूरत के वक्त ब्याज सहित इस पैसे का इस्तेमाल कर सकते हैं। कर्मचारी को कंपनी ईपीएफ खाता नंबर देती है जिसके जरिए ऑनलाइन भी यह देखा जा सकता है कि आपके पीएफ खाते में कितना पैसा है।

यह भी पढें:-ट्रांमा सेंटर में 7 मरीजों की मौत, डीएम ने दी आर्थिक मदद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here