Home उत्तर प्रदेश गाजियाबाद हमला के बाद मेरठ में एनआईए-एटीएस ने डाला डेरा

गाजियाबाद हमला के बाद मेरठ में एनआईए-एटीएस ने डाला डेरा

1064
0
SHARE

मेरठ| पंजाब में हुई सिलसिलेवार हत्याओं में हथियार सप्लायर मलूक और मूलचंद का नाम उजागर होने के बाद एनआईए और एटीएस ने मेरठ में डेरा डाल दिया है। मंगलवार को भी परीक्षितगढ़ क्षेत्र के आसिफाबाद और मेरठ समेत शहर के कई इलाकों में छापेमारी की गई। कुछ संदिग्धों से पूछताछ के लिए हिरासत में भी लिए गए हैं।
परीक्षितगढ़ के जिस आसिफाबाद गांव में सुरक्षा एजेंसियां जांच करने के लिए पहुंची हैं, वहां हथियार तस्कर मूलचंद उर्फ मूला का साथी रहता है।

कार चालक ने बाइक सवार मां-बेटी को कुचला, मौत

यह युवक भी मूलचंद के साथ तिहाड़ जेल में बंद रहा था और वर्तमान में जमानत पर बाहर चल रहा है। सुरक्षा एजेंसियों को आशंका है कि आसिफाबाद का युवक भी हथियार सप्लायर के गैंग से जुड़ा हुआ है, जो फिलवक्त फरार है। छापे के दौरान सुरक्षा एजेंसियों को मूला का साथी नहीं मिला। शहर में भी कई ठिकानों पर सुरक्षा एजेंसियों के छापे की खबर है। हालांकि स्थानीय अधिकारी॓ एनआईए-एटीएस के छापे की कोई पुष्टि नहीं कर रहे हैं।

पत्रकार हत्याकांड : घटना के 48 घंटे बाद संदिग्ध का स्केच जारी
एनआईए ने दो दिन पहले ही बिजौली निवासी मूलचंद उर्फ मूला को रुड़की रोड स्थित उसके भाई के आवास से गिरफ्तार किया है। जबकि गाजियाबाद के नाहली गांव निवासी मलूक अभी फरार है। दिल्ली एनआईए और यूपी एटीएस की टीम ने सोमवार को देहली गेट थाना क्षेत्र में एक होटल पर छापा मारा था। इसकी सूचना शहर में सबको पता लग गई। सूत्रों के मुताबिक, एनआईए ने इसे लेकर पुलिस को हिदायत दी है कि ऐसे सभी ऑपरेशन में पूरी तरह गोपनीयता बरती जाए।

अपराधियों के हौसले बुलंद, गश्त के दरोगा को मारी गोली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here