Home क्राइम बुजुर्ग को कुल्हाड़ी से काट डाला, वृद्ध महिला को भी पीटा

बुजुर्ग को कुल्हाड़ी से काट डाला, वृद्ध महिला को भी पीटा

980
0
SHARE

अमावां (रायबरेली)। मिल एरिया थाना क्षेत्र के एक गांव में सोमवार की रात जमीन के विवाद पर जमकर तांडव मचा और खूनी खेल में एक बुजुर्ग को कुल्हाड़ी से काटकर मौत के घाट उतार दिया गया। दबंगों का कहर बुजुर्ग की हत्या के बाद भी नहीं रुका और वृद्ध महिला को भी पीट-पीटकर लहूलुहान कर दिया गया जबकि गांव का एक किशोर गोली लगने से घायल हो गया।

व्हाट्सऐप ग्रुप पर झूठी अफवाहें फैलाने वाला ग्रुप एडमिन गिरफ्तार
देर रात पुलिस अधीक्षक शिवहरी मीणा ने घटनास्थल पर पहुंचकर आरोपियों की गिरफ्तारी के निर्देश दिए। पुलिस ने मृतक के पुत्र की तहरीर पर मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। एसओ रमेश चंद्र यादव ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच लम्बे समय से जमीन का विवाद था। घटना में बुजुर्ग की मौत के अलावा आधा दर्जन लोग घायल हुए हैं जिसमें गोली से घायल किशोर को लखनऊ रेफर कर दिया गया है। आरोपियों की तलाश जारी है।

दरिदों ने युवती को सुरक्षा का हवाला देकर मंदिर में किया गैंगरेप
थाना क्षेत्र के रजवापुर गांव निवासी रामपाल पुत्र माताप्रसाद का अपने चचेरे भाई भारतलाल पुत्र सन्तू से लम्बे समय से जमीन का विवाद चल रहा था, भारतलाल ने जमीन पर नींव भरा रखी थी। उक्त जमीन पर भरी नींव रामपाल को खटक रही थी। सोमवार को रामपाल के घर पत्नी की तेरहवीं थी। रात करीब साढ़े नौ बजे इकट्ठा हुए करीब चार दर्जन साथियों के साथ रामपाल ने भारतलाल की दीवार गिरानी शुरू कर दी।

मेमोरी कार्ड के लिए छात्र को उतारा मौत के घाट
भारतलाल के विरोध करने पर रामपाल के साथियों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी, अपने को घिरते देख भारतलाल ने अपनी लाइसेंसी रायफल से फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में दूसरे पक्ष से फायरिंग शुरू हुई तो भारतलाल ने भागकर घर का दरवाजा अंदर से बन्द कर लिया। फायरिंग के दौरान एक गोली शिखर उर्फ अंकित तिवारी पुत्र शिवशंकर 16 वर्ष को लग गई जिसके बाद आक्रोशित लोगों ने कुल्हाड़ी से भारतलाल के घर के दरवाजे तोड़ दिए और घर में मिले भारतलाल के पिता सन्तू 75 वर्ष की कुल्हाड़ी से कई वार करके नृशंस हत्या कर दी।

जिला महिला चिकित्सालय के छत से गिर कर महिला काउंसलर की घटनास्थल पर मौत

इतना ही नहीं सन्तू की मौत के बाद उसकी मां शीतल को भी पीट पीटकर लहूलुहान कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बिंदादीन,रामपाल, सुरेश, राकेश, रमेश, अनिल, वीरेन्द्र, चन्द्रभान, शिवशंकर, अंकित के अलावा तीन दर्जन अज्ञात लोगों के खिलाफ सम्बन्धित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। घटना के बाद गांव में आधा दर्जन थानों की फोर्स तैनात की गई है।

डकैतों की गिरफ्तारी करने वाली टीम का हुआ सम्मान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here