Home लखनऊ किरायेदार की दबंगई, मां व बेटी से की मारपीट, अच्चाधिकारियों से भी...

किरायेदार की दबंगई, मां व बेटी से की मारपीट, अच्चाधिकारियों से भी नहीं मिल रहा इंसाफ

228
0
SHARE

लखनऊ। सीएम योगी आदित्यनाथ ने भले ही सरकार बनने के बाद से पुलिसों को सुधारने और दबंगों को यूपी छोड़ने के दावे करती रही है। लेकिन न तो सीएम योगी के राज में पुलिस की कार्यशैली में कोई बदलाव हो रहा है और न तो दबंगई ही कम हो रही है। मड़ियाव थाने में एसओ से मिलीभगत कर किराएदार दो साल से महबूब अली मकान मालिक लियाकत अली के मकान पर कब्जा जमाए हुए है। आए दिन किराएदार मकान मालिक की पत्नी और उनकी बेटी से बदसलूकी और अभद्रतता करता रहता है। जिसको लेकर मडियांव थाने पर कई बार शिकायत की गई। लेकिन पुलिस ने कोई भी कार्रवाई करना उचित नहीं समझा। शुक्रवार को किराएदार महबूब अली पुत्र मोहम्मद अली व पत्नी नसरीन अली ने मकान मालिक की गैरमाजूदगी का लाभ उठाते हुए उनकी पत्नी और बेटी से मारपीट की जिससे पत्नी के हाथ में चोट आ गई। मामले को लेकर डायल 100 पर शिकायत की गई। जहां मौके पर पहुंची पुलिस ने उल्टे पीड़ित पर समझौता करने का दबाव बनाने लगा। इतना ही नहीं पुलिस ने उल्टे पीड़ितों पर ही कार्रवाई की धमकी भी दी।

सड़क हादसे में बसपा जिलाध्यक्ष के चालक सहित दो की मौत
पीड़िता का आरोप है कि ss1/429 पलटन छावनी सीतापुर रोड सेक्टर ए योजना लखनऊ में उनका मकान है तो उनके पति नियामत अली के नाम है। किराएदार आए दिन शराब पीकर बदसलूकी करता है। इतना ही नहीं घर में महिलाओं को अकेला पकर अश्लील हरकतें भी करता है। पीड़ित परिजन दबंग किराएदार के कारनामों से डरे सहमे हुए हैं। वहीं, पुलिस किराएदार के पक्ष में ही बात कर रही है। जब थाने पर मामले को लेकर बात की गई तो पुलिस किराएदार का पक्ष लेते हुए बात की। पुलिस ने कहा कि मामला विवादित है। पुलिस मामला कोर्ट में बताकर किसी भी तरह की कार्रवाई आरोपी पर करने से कन्नी काट लेती है।

उत्तर प्रदेश में सरकारें आईं और टाइम पास करके चली गईं : योगी आदित्य नाथ
पीड़िता बेटी का आरोप
पीड़िता बेटी का आरोप है कि उसके साथ वह कई बार छेड़खानी करने से भी नहीं चूकता है। जबसे किराएदार उनके मकान में रह रहा है, उसके परिवार का सुख चैन खत्म हो गया है। पुलिस से जब शिकायत करती है तो उसे ही धमकाया जाता है। पहले भी किराएदार मां बेटी के साथ मापीट और छेड़खानी जैसी शर्मनाक घटनाओं को अंजाम दे चुका है। पीड़िता का आरोप है कि आरोपी किराएदार भी कोर्ट का हवाला देकर मकान मालिक को धमकाता रहता है। जबकि वह एक किराएदार है। मकान की रजिस्ट्री उसके पिता लियाकत अली के नाम है। उसने 1090 पर भी आरोपी किराएदार को लेकर शिकायत की। लेकिन वहां से आश्वासन मिलने के बाद कोई कार्रवाई नहीं हुई।

मदरसे में अश्लील तस्वीरें दिखा कर गंदी हरकत करने वाला गिरफ्तार
इतना ही नहीं ​बड़े बैनर के नाम पर अलीम अमहद रिपोर्टर का नाम भी मामले को लेकर सामने आया है। रिपोर्टर पर आरोप है कि पुलिस से दबाव बनाकर किराएदार के पक्ष में कार्रवाई करवाता है। पहले भी पीड़ितों को अखबार में खबर छापकर और जेल भिलवाने की धमकी दे चुका है। शुक्रवार को भी वह रिपोर्टर मामले की जानकारी होते ही पीड़ितों के घर जा पहुंचा और रौब गांठने लगा और धमकी देकर चलता बना।
जब पीडिछ़ता ने मामले को लेकर उस बड़े अखबार के संपादक से बात की तो पता चला कि इस नाम का कोई भी पत्रकार उनके यहां काम नहीं करता है। जानकारी के मुताबिक वह पत्रकार बनकर बैनर का नाम लेकर गलत तरीके के कार्यों को अंजाम देता है। वहीं, पुलिस थानों में उसकी खातिरदारी करने में मस्त रहती है।

मदरसे में अश्लील तस्वीरें दिखा कर गंदी हरकत करने वाला गिरफ्तार
मामले को लेकर जब एसएसपी से मामले को लेकर बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने फोन उठाना मुलासिब नहीं समझाा।
वहीं, जब मामले को लेकर डीजीपी के सीयूजी नंबर पर बात की गई तो उधर से जवाब आया कि कहा कि जब फोन काट दिया गया तो दोबारा क्यों फोन लगा रहे हो। वह खाना खाने जा रहे हैं। शिकायत करना है तो आप कम्प्यूटर पर आॅनलाइन शिकायत करिए।

मदरसे में अश्लील तस्वीरें दिखा कर गंदी हरकत करने वाला गिरफ्तार
गौरफमाने की बात है कि एक तरफ महिलाओ से अभद्रता की जा रही थी। दूसरी ओर कोई भी उच्च अधिकारी सीयूजी नंबर पर फोन नहीं उठा रहा था। जब डीजीपी के नंबर पर मदद के लिए गुहार लगाते हुए बात की गई तो उनको भोजन की चिंता पड़ी हुई थी। जब पुलिस महकमे में सबसे उंचे ओहदे पर बैठे अधिकारी द्वारा सीयूजी नंबर पर शिकायत सुनने की फुर्सत नहीं है तो एसएसपी और नीचे बैठे अधिकारियों से क्या उम्मीद की जा सकती है। जबकि सीएम योगी ने सभी उच्च अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया है कि सभी अधिकारी खुद ही अपना नंबर उठाएंगे और समस्याओं का तत्काल निस्तारण करेंगे।

कमला मिल्स कम्पाउंड में आग से 14 की मौत, कई चैनलों की ब्रॉडकास्टिंग बंद
चिंताजनक बात यह है कि सीएम योगी यूपी की पुलिस को सुधारने के लिए दिन—रात एक कर मेहनत कर रहे हैं, लेकिन पुलिस दबंगों से मिलीभगत कर सरकार की छवि खराब करने में तुली हुई है। पुलिस की कार्यशैली के कारण सरकार की योजनाएं और उद्देश्य धरी की धरी रह गई है और आए दिन महिलाओं के साथ बदसलूकी हो रही है।

पति ने मंदिर के पास पत्नी को गड़ासे से काट डाला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here