Home क्राइम लखनऊ पुलिस की डकैतों से मुठभेड़, दो के पैरों में लगी गोली

लखनऊ पुलिस की डकैतों से मुठभेड़, दो के पैरों में लगी गोली

56
0
SHARE

लखनऊ। राजधानी में दूसरे जिलों के अपराधियों के बढ़ते कद को देखते हुए लखनऊ पुलिस बेहद एक्टिव हो गई है। बुधवार सुबह इसी के चलते एक व्यापारी के घर होने वाली डकैती को नाकाम करते हुए लखनऊ पुलिस ने डकैतों को मुठभेड़ के दौरान इरादों को नाकाम कर दिया। वहीं दो बदमाशों को पैर में गोली मार काबू किया तो तीन अन्य डकैतों ने पुलिस का सख्त रूख देखते हुए आत्मसर्मपण कर दिया। पुलिस की गोली से घायल हुए दोनों बदमाशों को लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया। यह सभी बदमाश गाजीपुर के एक व्यापारी के घर में डकैती डालने की फिराक में थे।

मोस्ट वांटेंड डॉन दाऊद इब्राहिम के पाकिस्तान में होने का दावा!

एसएसपी दीपक कुमार के मुताबिक बुधवार तड़के लखनऊ पुलिस को सूचना मिली कि फरूखाबाद जिले का एक गिरोह लखनऊ के गाजीपुर क्षेत्र में एक व्यापारी के घर में डकैती डालने के लिए पहुंच चुका है। इसके बाद सरोजनीनगर थाना प्रभारी डीके शाही और गाजीपुर थाना प्रभारी गिरजा शंकर त्रिपाठी की टीम ने डकैती की फिराक में आए बदमाशों को ट्रेस करना शुरू किया। पुलिस ने पांच बदमाशों को कुकरैल बंधे के पास घेर लिया। इसके बाद बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी और भागने लगे। इस पर पुलिस ने जवाबी फायरिंग की। इस दौरान रेहान और अनवर नाम के बदमाशों के पैरे में गोली लगी। पुलिस का सख्त रूख देखते हुए बाकी तीन बदमाश तौसीफ, सादिक और विकास ने आत्मसर्मपण कर दिया। पुलिस ने रेहान और अनवर को इलाज के लिए लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया।

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार पर जानलेवा हमला, मुकदमा दर्ज
इंस्पेक्टर डीके शाही ने बताया कि व्यापारी के घर के नौकर ने बातों-बातों में बदमाशों को बताया दिया था कि उसके मालिक के पास घर में काफी कैश और ज्वैलरी रखी हुई है। बदमाशों को अंदाजा था कि व्यापारी के पास करीब 40-50 करोड़ रूपये की नकदी और ज्वैलरी मिल सकती है। इसके बाद उन्हें डकैती डालने की योजना बनाई थी।
जानकारी के मुताबिक सादिक को जब पता चला कि व्यापारी के घर में 40-50 करोड़ रूपये है, तो उसने पहले प्लान बनाया कि इनकम टैक्स विभाग को सूचना देकर वह विभाग से कमीशन ले लेगा। कमीशन से ही उसे चार-पांच करोड़ मिल जाएंगे। लेकिन बाद में उसका इरादा बदल गया फिर उसने डकैती की योजना बनाई और अपनी टीम तैयार की।

गौरी लंकेश के हत्यारों का सुराग देने वालों को 10 लाख का इनाम
पुलिस को बदमाशों के पास से नींद के इंजेक्शन, 50 कारतूस, दो असलहे समेत अन्य चीजें बरामद हुए हैं। बदमाश डकैती के दौरान घर वालों को काबू करने के लिए नींद के इंजेक्शन का इस्तेमाल करने वाले थे। ताकि आराम से डकैती की वारदात को अंजाम दिया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here