Home क्राइम राजाजीपुरम में एफसीआई गोदाम के पास ट्रक में मिला किशोर का शव,...

राजाजीपुरम में एफसीआई गोदाम के पास ट्रक में मिला किशोर का शव, हत्या का आरोप

108
0
SHARE

लखनऊ। राजाजीपुरम में एफसीआई गोदाम के पास रविवार सुबह गेंहू लदे ट्रक में क्लीनर प्रदीप (16) मरणासन्न हालत में मिला। वह ट्रक के पिछले हिस्से में बोरियों के नीचे दबा था। लोगों ने पुलिस को सूचना देने के साथ बोरियां हटाकर उसे बाहर निकाला। पुलिस ने प्रदीप को ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया जहां उसकी मौत हो गई। इस मामले में घरवालों ने हत्या की आशंका जताते हुए तालकटोरा थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।

निवेशकों का सारा पैसा अकेले ही हड़प चाहते है पल्स ग्रुप के सीएमडी
मूलत: हरदोई निवासी प्रदीप अपनी बड़ी बहन पिंकी के साथ एफसीआई गोदाम के पास प्रभाकर के मकान में पिछले कई वर्षों से किराये पर रह रहा था। वह गोदाम में आने वाले ट्रकों में क्लीनर और पल्लेदारी का काम करता था। रविवार सुबह लोगों ने प्रदीप को मरणासन्न अवस्था में गेंहू से लदे ट्रक में बोरियों के नीचे दबे देखा। लोगों ने फौरन बोरियां हटायी और खबर प्रदीप के परिवार वालों को दी। परिजन प्रदीप को ट्रॉमा सेंटर लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। प्रदीप के शरीर पर चोट के कई निशान मिले हैं। घरवालों ने पुलिस कंट्रोल रूम पर फोन करके सूचना दी जिस पर पुलिस ट्रॉमा सेंटर पहुंची। छानबीन के बाद पुलिस ने प्रदीप के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। तालकटोरा पुलिस एक तरफ जहां प्रदीप की मौत को हादसा मान रही है, वहीं दूसरी तरफ परिवार वालों ने उसकी हत्या की आशंका जतायी है। पुलिस ने घरवालों की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

उन्नाव में महिला के साथ पांच दरिंदों ने किया सामूहिक दुष्कर्म
क्लीनर प्रदीप का शव जिस ट्रक में मिला, वह ट्रक गेंहू लेकर एफसीआई गोदाम पहुंचा था। चालक ने ट्रक को गोदाम के बाहर खड़ा कर दिया था। उस वक्त ट्रक में क्लीनर प्रदीप मौजूद था। रात को चालक ने प्रदीप को 100 रुपये दिये और अपने घर पारा जाने की बात कहकर चला गया था। उसने प्रदीप को बताया था कि उसके परिवार में किसी की तबियत खराब है। इसलिए वह घर जा रहा है।
शूटरों से कराई गई थी अधिवक्ता लाल बचन सोनी की हत्या
पुलिस एफसीआई गोदाम के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देख रही है। चालक का कहना है कि जब वह ट्रक छोड़कर गया था तो प्रदीप ट्रक के आगे के केबिन में मौजूद था। इसके बाद वह कब ट्रक के पीछे पहुंच गया किसी को कुछ नहीं पता। उसके परिवार में पिता बन्ने लाल, मां नीलम, भाई बबलू, संदीप, मुकेश व बेटी सोनी और मोनी हैं। प्रदीप और बड़ी बहन पिंकी के अलावा सभी घरवाले पारा के प्रभातपुरम में रहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here