Home उत्तर प्रदेश छत्तीसगढ़ में नक्सलियों की कॉम्बिंग को गए कानपुर के दरोगा शहीद

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों की कॉम्बिंग को गए कानपुर के दरोगा शहीद

1235
0
SHARE

कानपुर । छत्तीसगढ़ में नक्सलियों की कॉम्बिंग करने जा रहा कानपुर का जांबांज जवान शहीद हो गया। दुर्गम जंगलों में मोर्चा लेने निकले कमल सिंह सड़क हादसे में हमेशा के लिए चले गए। बीएसएफ में असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर कमल सिंह पनकी गंगागंज में रहते थे। उनकी शहादत की खबर पहुंचते ही पूरे इलाके में कोहराम मच गया। देर रात तिरंगे में लिपटा उनका शव घर पहुंचा, तो पत्थर दिल लोग भी रो पड़े।

झारखंड डीजीपी के काफिले की गाड़ी ने बलिया में ली युवक की जान
गंगागंज पार्ट 2 पनकी निवासी राम बालक यादव घर के पास ही स्थित हर्ष विद्या मंदिर में हेडमास्टर हैं। उनके बेटे कमल सिंह यादव (27) बीएसएफ में असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर पद थे। कमल की पोस्टिंग वर्तमान में छत्तीसगढ़ के दुर्ग स्थित बीएसएफ हेडक्वार्टर में थी। यह हेडक्वाटर घनघोर नक्सल क्षेत्र में स्थित है। कमल के साथ तैनात गौतमबुद्ध नगर निवासी एएसआई जेके शर्मा और इटावा निवासी प्रेम सिंह ने बताया कि रविवार को कंकोर जिले के जंगलों में नक्सली मूवमेंट की जानकारी मिली थी। दुर्गम जंगलों में नक्सलियों को घेरने के लिए वह फोर्स के साथ निकले थे। तभी रास्ते में सड़क हादसे में उनकी मौत हो गई।

UP CM की आपत्तिजनक फोटो वायरल करने पर लेखपाल सस्पेंड
जेके शर्मा और प्रेम सिंह को रविवार रात हेडक्वाटर्स से सूचना देकर उन्हें कमल के घर पहुंचने के आदेश दिए गए। इसके अलावा जवान यूनिट में तैनात दो अन्य अफसर भी उनके घर पहुंचे। इधर कमल के शहीद होने की सूचना घर पहुंची तो पूरे इलाके में मातम छा गया। कमल का शव सोमवार दोपहर विमान से रायपुर से दिल्ली और रात में दिल्ली से लखनऊ लाया गया। देर रात शहीद का शव लखनऊ से उनके पनकी गंगागंज स्थित आवास पर पहुंचा। मंगलवार को शहीद का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

….नशेड़ी पति ने दांत से चबा ली पत्नी की नाक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here