Home उत्तर प्रदेश दिनदहाड़े राजभवन के पास गनमैन की गोली मारकर हत्या, कैश वैन से...

दिनदहाड़े राजभवन के पास गनमैन की गोली मारकर हत्या, कैश वैन से लूटे 20 लाख

423
0
SHARE

लखनऊ। सूबे की राजधानी का सबसे सुरक्षित और वीवीआइपी इलाका माने जाने वाले राजभवन से चंद कदमों की दूरी पर आज दिनदहाड़े बदमाशों ने एक बड़ी वारदात को अंजाम दे डाला। प्राइवेट बैंक में पैसा जमा करने पहुंची वैन के गनमैन की गोली मारकर हत्‍या करने के साथ ही 20 लाख रुपए लूट लिए। बदमाशों की गोली से कस्‍टोडियन और ड्राइवर भी घायल हुआ है। कस्‍टोडियन को ट्रामा सेंटर में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। दूसरी ओर हजरतगंज के अति सुरक्षित माने जाने वाले क्षेत्र में इतनी बड़ी घटना होने की जानकारी लगते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। कुछ ही देर में डीजीपी ओपी सिंह, एडीजी जोन, आइजी व एसएसपी लखनऊ समेत पुलिस विभाग के तमाम अधिकारी मौके पर पहुंच गए। इस संबंध में लखनऊ पुलिस ने दो संदिग्ध व्यक्तियों के स्केच जारी किए हैं।

राजभवन के पास हत्या कर लूट

बताया जा रहा है कि प्राइवेट कंपनी एसआइपीएल सिक्यूरिटीज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड लोगों से उनका पैसा लेकर बैंकों में जमा करने का काम करती है। आज अपरान्‍ह करीब चार बजे कंपनी की वैन (संख्‍या यूपी 32 एफएन 4840) से चालक रामसेवक, गनमैन इन्‍द्रमोहन व कस्‍टोडियन उमेश चन्‍द्र तीन बैगों में कैश लेकर राजभवन के सामने महात्‍मा गांधी मार्ग स्थित एक्सिस बैंक में जमा करने पहुंचे थे।

वैन राजभवन कॉलोनी निवासी कानून मंत्री बृजेश पाठक के घर के सामने ही खड़ी थी कि तभी वहां अचानक पहुंचे बदमाशों ने फॉयरिंग शुरू कर दी। गोली लगते ही इन्‍द्रमोहन की मौके पर मौत हो गयी, जबकि उमेश चंद्र गंभीर रूप से और छर्रा लगने से रामसेवक मामूली रूप से घायल हो गया। जिसके बाद बदमाश कैश से भरा बैग लूटकर भाग निकले।

राजभवन के पास हत्या कर लूट

राजधानी पुलिस को खुली चुनौती देने वाली वारदात के बाद घटनास्‍थल पर पहुंचे पुलिस के आलाधिकारियों ने आसपास के लोगों से पूछताछ करने के साथ ही बदमाशों की धरपकड़ के लिए टीमें बनाकर छापेमरी शुरू करवा दी है। साथ ही पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को भी बारीकी से खंगाल रही है।

राजभवन के पास हत्या कर लूट

पुलिस की शुरूआती जांच में घटना को सफेद रंग की अपाचे बाइक से अंजाम देने की बात सामने आयी है। पुलिस बाइक के नंबर के आधार पर भी पड़ताल कर रही है। वहीं एसएसपी कलानिधि नैथानी ने लूट और हत्‍या में इस्‍तेमाल बाइक का नंबर यूपी 32 जीके 7022 जारी करते हुए बदमाशों के बारे में बताने वालो को 50 हजार रुपए का ईनाम देने की घोषणा की है।

लूट की रकम को लेकर बना रहा संशय

वहीं घटना के बाद पुलिस का कहना था लूटी गयी रकम करीब 20 लाख है, हालांकि शाम करीब सात बजे सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्र ने लूटी गयी रकम को 20 लाख से कम होना बताते कहा कि अभी कंपनी के लोगों से रकम की सही जानकारी की जा रही है।

डीजीपी ने दिए ये निर्देश

दूसरी ओर घटनास्‍थल के निरीक्षण के कुछ देर बाद डीजीपी ओपी सिंह ने मीडिया को पुलिस की छानबीन के कुछ बिन्‍दुओं पर जानकारी देते हुए बताया कि-

– घटना की जांच के लिए एटीएफ को तैनात किया गया है।

– लखनऊ की छह टीमों को घटना के अनावरण एवं गिरफ्तारी के लिए लगाया गया है

– बॉर्डर के सभी जनपदों को सघन चेकिंग व नाकाबंदी के निर्देश दिए गए हैं।

– पिछले 10 वर्षों में लूट की घटना (मुख्यतः कैश वैन लूट) में प्रकाश में आये अभियुक्तों की धरपकड़ के निर्देश दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here