Home उत्तर प्रदेश आम बजट : कुछ लोग ना खुस, तो किसी ने खूब सराहा

आम बजट : कुछ लोग ना खुस, तो किसी ने खूब सराहा

833
0
SHARE

लखनऊ | संसद में आम बजट गुरुवार को पेश होने के बाद सभी वर्गों ने इस पर मिली-जुली प्रतिक्रिया दी है। किसी ने इसे सबके लिए उपयोगी बताया तो किसी ने कहा कि इस बजट में जुमलेबाजी के अलावा कुछ भी नहीं है। भारतीय जनता पार्टी ने आम बजट को आम और खास सबके लिए सुनहरा बजट बताया है। पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी हरिश्चंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि बजट में श्रेष्ठ भारत और समृद्ध भारत का खाका खींचा गया है।

अनियंत्रित कार सड़क किनारे बैठे लोगों को रौंदते हुए पेड़ से टकराई, पांच की मौत

बजट में भाजपा द्वारा लोगों से किए गए वादे को पूरा करने का संकल्प साफ दिखता है। किसानों और मजदूरों के लिए या अन्य  सभी वर्ग के लोगों के लिए जिस तरह के प्रावधान किए गए हैं। उससे वादा निभाने का संकल्प पूरा हुआ है। इस बजट में कृषि तथा ग्रामीण विकास पर विशेष ध्यान दिया गया है ताकि देश की अर्थव्यवस्था और मजबूत हो। इसमें गरीब से लेकर मध्यम आय वर्ग के लोगों को भी काफी सहूलियतें दी गई हैं।

उत्तेर प्रदेश में कन्या भ्रूण हत्या कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 8 महिलाएं थी शामिल

उन्होंने कहा, बजट में प्रगतिगामी कई सुझाव भी आए हैं। मसलन, न्यूनतम समर्थन मूल्य के अंतर्गत अब सभी फसलें ली जाएंगी अभी तक मात्र 3 फसलों पर ही ज्यादा ध्यान केंद्रित किया जाता था। वहीं राष्ट्रीय राजमार्गों को बढ़ाने के संकल्प से देश की यातायात व्यवस्था सुगम और प्रभावी होगी। कांग्रेस ने केंद्रीय बजट को आम जनता खासतौर पर मध्यम वर्ग के लिए घोर निराशाजनक बताया है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अमरनाथ अग्रवाल ने कहा है कि मोदी सरकार का बजट उच्च वर्ग, पूंजीपतियों के हित साधने वाला है। गरीब और मध्यम वर्ग के हितों पर कुठाराघात करने वाला है। आयकर में छूट की सीमा बढ़ाने की जगह सेस बढ़ाकर महंगाई और बढ़ा दी। किसानों के लिए सिर्फ जुमलेबाजी के सिवा कुछ नहीं है।

कानपुर में देर रात लूटकर भाग रहा बदमाश मुठभेड़ में गिरफ्तार

इंडियन एसोसिएशन ऑफ टूर ऑपरेटर्स के यूपी, उत्तराखंड और बिहार के चेयरमैन प्रतीक हीरा ने कहा कि ओवरआल बजट सकारात्मक रहा है। एयरपोर्ट की स्कीम को बढ़ाने, 900 से ज्यादा विमान खरीदे जाने, एयरपोर्ट की संख्या पांच गुना करने, स्मार्ट सिटी से भी पर्यटन क्षेत्र को फायदा मिलेगा। पिछली बार आये बजट में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिये कुछ नहीं था लेकिन इस बार बहुत कुछ दिया है, जिससे पर्यटन उद्योग के बढ़ने के साथ ही विकास भी होने की संभावना जताई जा सकती है।

पारा : मुठभेड़ के दौरान 50000 का इनामिया गिरफ्तार, 2 पुलिसकर्मी घायल

अर्थशास्त्री प्रो. अरविंद मोहन का कहना है कि ये बजट काफी रोचक है। बजट में विकास को एक नई दिशा दी गई है। यहां सामाजिक सुरक्षा के साथ युवाओं को रोजगार और अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने कोशिश की गई। शेयर मार्केट में लम्बे समय के लिए होने वाले निवेश पर कर लगाने से वहां का निवेश मैन्यूफैक्चरिंग उद्योग की ओर मुड़ेगा। यानी रोजगार के नए अवसर तैयार होंगे। इसके अलावा स्वास्थ्य बीमा जैसी ठोस पहल कर मध्यम वर्ग से लेकर गरीब वर्ग को राहत दी है। कम टर्नओवर वाली कंपनियों का कारपोरेट टैक्स पांच प्रतिशत तक घटाने से राहत मिलना तय है।शिक्षा, स्वास्थ्य को सराहा, व्यापारी नाखुश लोक सभा में आम बजट पेश होने के बाद अलग-अलग क्षेत्र से जुड़े लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दी।

ब्राइटलैंड स्कूल की आरोपी छात्रा की अंतरिम जमानत सात तक बढ़ी

व्यापारियों, बैंकर्स, चार्टर्ड अकाउंटेंट, शिक्षा और स्वास्थ्य से जुड़े लोगों से बातचीत की। वहीं अर्थशास्त्री ने भी पूरे बजट का लेखाजोखा बताया। बजट से एक बार फिर व्यापारी वर्ग थोड़ा असंतुष्ट दिखाई देर रहा है। वहीं अन्य क्षेत्र के लिए लोगों को सामान्य बजट लग रहा है। जानकारों ने शिक्षा व चिकित्सा के लिए बजट में किए गए प्रावधानों को सराहा है। एसोचैम के संदीप सक्सेना का कहना है कि बजट में स्टैंडअप इंडिया के लिए बहुत कुछ है। छोटे उद्योगों के लिए व्यापारियों को मुद्रा योजना के तहत आसानी से ऋण मिल सकेगा। वहीं प्रवीन कुमार का मानना है कि बैंकिंग सेक्टर में केंद्र सरकार विकसित देशों का मॉडल बजट में पेश किया है। यह एक सकारात्मक कदम है। वहीं चार्टर्ड अकाउंटेंट राशि गर्ग ने बताया कि बजट में शिक्षा के क्षेत्र के लिए कई नई व बेहतर पहल की गई है। इसमें एक से कक्षा 12 तक एक शिक्षा नीति लागू होने के साथ आदिवासियों के लिए एकलव्य स्कूलों की बात कही गई है। यह वाकई में विकास परक घोषणा है।

युवती कहती रही- भाई मत मारो, नहीं रुके दरिंदे, वीडियो वायरल होने पर हुए गिरफ्तार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here