Home उत्तर प्रदेश घर में अकेली दिव्यांग युवती से दोस्तों ने किया गैंगरेप

घर में अकेली दिव्यांग युवती से दोस्तों ने किया गैंगरेप

295
0
SHARE

आगरा | उत्तर प्रदेश के आगरा सिकंदरा क्षेत्र के एक गांव में शुक्रवार की शाम दिव्यांग युवती के साथ गैंगरेप की घटना हुई। गांव के ही एक युवक ने अपने दोस्त के साथ वारदात को अंजाम दिया। युवती की भाभी ने आरोपियों को भागते देख लिया था। रात को यह मामला रुनकता चौकी पर पहुंचा। पुलिस ने मुकदमा लिखने के बजाए पीड़ित पक्ष को टहला दिया। डीजीपी को ट्वीट के बाद पुलिस हरकत में आई।

बलिया : जमीन के लालच में देवरानी ने की जेठानी की हत्या
घटना शाम करीब चार बजे की है। 18 वर्षीय युवती एक आंख, पैर और हाथ से दिव्यांग है। पिता काम से बाहर गया था। मां का देहांत हो चुका है। भाभी खेत पर चारा लेने गई थी। ढाई साल की भतीजी बुआ के पास रह गई थी। आरोप है कि इसी दौरान गांव का विवेक अपने साथी संजय के साथ घर में घुस आया। दोनों ने बच्ची को कमरे के बाहर छोड़ दिया। दरवाजा बंद करके युवती को दबोच लिया। बारी-बारी से उसके साथ दुराचार किया। घटना के दौरान पीड़िता की भाभी खेत से लौट आई। उसने बेटी को कमरे से बाहर देखा तो हैरान रह गई। दरवाजा खटखटाया। दरवाजा अंदर से बंद था। उसने दरवाजा पीटना शुरू कर दिया। खिड़की से झांककर देखा। दोनों युवक पीछे के दरवाजे से भागते दिख गए।

अवैध संबंध बनाने से किया मना तो पति ने फेंक दिया तेजाब
पीड़िता के पिता के लौटने पर रात को घटना की सूचना रुनकता चौकी पर दी गई। पुलिस ने रात में ही पीड़िता को मेडिकल के लिए नहीं भेजा। उनसे कह दिया कि पहले जांच की जाएगी। उसके बाद कार्रवाई होगी। पीड़ित पक्ष वापस लौट गया। सुबह घटना की जानकारी पर सामाजिक कार्यकर्ता नरेश पारस ने डीजीपी ओपी सिंह को ट्वीट कर दिया। उनके ट्वीट के बाद यह मामला सुर्खियों में आ गया। लखनऊ से कार्रवाई के आदेश हुए। थाना पुलिस भी घटना से अनजान थी। चौकी से घटना की जानकारी नहीं दी गई। आनन-फानन में पुलिस ने तहरीर ली। पीड़िता को मेडिकल के लिए भेजा। गैंगरेप की धारा के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। दोनों आरोपित फरार हैं।

गोरखपुर में भाई-बहन को मिट्टी का तेल डालकर जिन्दा जलाया
गांव में दबंग ने कराई पंचायत
दिव्यांग युवती से गैंगरेप के मामले को दबाने का प्रयास किया गया। गांव के कुछ दबंगों ने इस मामले को गांव में निपटाने का दबाव बनाया। इस संबंध में पंचायत भी हुई। पीड़िता के पिता ने साफ बोल दिया कि बेटी को इंसाफ दिलाकर रहेंगे। गांव और घर में ही बेटी सुरक्षित नहीं है। इससे बड़ी शर्म की कोई और बात नहीं हो सकती। आज उनके साथ हुआ है कल किसी और के साथ होगा। घटना हुई है। सजा दिलाकर ही रहेंगे। उनके आगे दबंगों की एक नहीं चली। चर्चा है कि आरोपियों को राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है। पुलिस पर दबाव बनाया जा रहा है। हालांकि पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश दे रही है।

विधायक की सुपारी देने वाले BJP नेता और उनकी भाभी पर मुकदमा दर्ज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here