Home उत्तर प्रदेश प्रेमिका की गोद भराई से नाराज युवक ने पिता को मारी गोली

प्रेमिका की गोद भराई से नाराज युवक ने पिता को मारी गोली

487
0
SHARE

इटावा| इटावा जिले में बकेवर क्षेत्र के लखना कस्बे में प्रेमिका की गोद भराई से नाराज युवक ने दुकान में घुसकर उसके सराफा व्यवसाई पिता को गोली मार दी। इसके बाद वह प्रेमिका के घर पहुंचा और उसे गोली मारकर आत्महत्या कर ली। इलाज के दौरान युवती की भी मौत हो गई। घटना की जानकारी पर पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। गंभीर रूप से घायल सराफा व्यापारी को सैफई पीजीआई रेफर किया गया है।
लखना के कुरावली दरवाजा निवासी नरेंद्र चौहान की स्टेट बैंक के पास सराफे की दुकान है। सोमवार शाम उनकी पुत्री आकांक्षा की गोद भराई थी।

रायबरेली में सैकड़ों की मौत की खबर सुनकर दहला उत्तर प्रदेश
मंगलवार सुबह इंदिरा कॉलोनी लखना निवासी राहुल नरेंद्र की दुकान पर पहुंचा और उन्हें गोली मार दी। इसके बाद वह स्कूटर से कुरावली दरवाजा स्थित उनके घर पहुंचा और अंदर घुसते ही आकांक्षा के सिर में गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया और उसी पिस्टल से खुद को भी गोली मार ली। राहुल की मौके पर ही मौत हो गई। नरेंद्र और आकांक्षा को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से सैफई पीजीआई रेफर किया गया। आकांक्षा ने रास्ते में दम तोड़ दिया। घटना की जानकारी पर एसएसपी वैभव कृष्ण, एएसपी जितेंद्र श्रीवास्तव, भरथना सीओ विकास जायसवाल पहुंच और क्षेत्रीय लोगों से वारदात की जानकारी ली।

नहर के किनारे 20 वर्षीय युवती का शव फेंककर हत्यारे फरार
राहुल और आकांक्षा में ढाई साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसकी जानकारी दोनों के परिवारीजनों को भी थी, पर एक ही बिरादरी के होने के बाद भी लड़की पक्ष शादी करने को तैयार नहीं था। इसी बात से नाराज होकर राहुल ने इस घटना को अंजाम दिया, जिसमें राहुल व आकांक्षा की मौत हो गई।

कृष्णानगर क्षेत्र से कुख्यात अपराधी विकास दुबे गिरफ्तार
गोली लगने से गंभीर रूप से घायल आकांक्षा को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उसे सैफई के लिए रेफर कर दिया। आकांक्षा को सैफई पीजीआई जिस एंबुलेंस में ले जाया जा रहा था, उसमें लगा ऑक्सीजन सिलेंडर खाली था, मगर पुलिस प्रशासन ने इसकी कोई परवाह नहीं की और घायल को भेज दिया। चालक भी घायल को लेकर 10 मिनट बाद सैफई रवाना हुआ था।

युवती से दुष्कर्म के बाद सिर और हाथ कटा कर झाडियों में फेंका
नरेंद्र चौहान के दिल के पास गोली लगी अंदर ही फंस गई। नरेंद्र की हालत भी जिला अस्पताल में गंभीर बनी हुई है। डॉक्टरों ने बताया कि अगर 24 घंटे तक उनकी स्थिति कंट्रोल में नहीं आती है तो हालत ज्यादा चिंताजनक होगी।

दो घरों में डकैतों का धावा, पहले पीटा फिर की लूटपाट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here