Home लखनऊ देर रात कपड़े के गोदाम में लगी आग, दो जिंदा जले

देर रात कपड़े के गोदाम में लगी आग, दो जिंदा जले

125
0
SHARE

लखनऊ । नरही में शुक्रवार देर रात एक कपड़े के गोदाम में भीषण आग लग गई। अग्निकांड में गोदाम के तीसरे तल पर मौजूद दो मजदूर जिंदा जल गए। इसकी जानकारी पुलिस और गोदाम मालिक को शनिवार सुबह हुई। इंस्पेक्टर हजरतगंज आनंद कुमार शाही के मुताबिक मजदूरों के घरवालों ने शिकायत की है। छानबीन की जा रही है।

बस्ती में परिजनों ने प्रेमी और प्रेमिका उतारा मौत के घाट

मूलचंद्र लेन नरही निवासी हीरा लाल का रामतीर्थ मार्ग पर कपड़े का गोदाम है। यहां मजदूर तीन मंजिला मकान में कपड़े की सिलाई का काम भी करते हैं। शुक्रवार देर रात करीब डेढ़ बजे गोदाम के तीसरे तल पर अचानक आग लग गई। आग की लपटें उठता देखकर स्थानीय लोगों ने हीरा और उनके परिवारीजनों को सूचना दी। इसके बाद पुलिस और फायर सर्विस को बुलाया गया। दमकल के मौके पर पहुंचने तक आग विकराल रूप ले चुकी थी।

लखनऊ में उड़ाई जा रही आचार संहिता की धज्जियां

गोदाम के भीतर तीसरे मंजिल पर सीतापुर के रामपुर मथुरा, भुलभुलिया गांव निवासी मजदूर राधेश्याम चौहान (50) और बाराबंकी के जहांगीराबाद, रोटी गांव निवासी अनिल कुमार (30) मौजूद थे। दोनों मजदूर आग की लपटों में घिर गए, जिससे उनकी जलकर मौत हो गई। आग की सूचना पाकर दमकल की गाड़ियां जब मौके पर पहुंची तो संकरी गलियां होने के कारण उन्हें खासा मशक्कत करनी पड़ी। दमकल की सात गाड़ियों ने करीब चार घंटे की मेहनत के बाद किसी तरह आग पर काबू पाया। गोदाम और गलियों में तारों के जाल फैले हुए थे।

रोहिंग्या मुसलामानों की होगी नसबंदी, दी जाएगी महिलाओं को गर्भनिरोधक गोलियां और पुरुषों को कंडोम

आग बुझाने के लिए पहले बिजली काटनी पड़ी, जिसके बाद दमकलकर्मी मकान में प्रवेश कर पाए। आग की लपटें इतनी तेज थी कि फायर सर्विस को उसपर काबू करने में काफी वक्त लगा। इस बीच आग तीसरे से दूसरे तल पर पहुंच गई और गोदाम में रखे ऊनी कपड़ों को चपेट में ले लिया। सुबह करीब साढ़े चार बजे आग पर काबू पाया जा सका। इसके बाद दमकल लौट गई। इसी बीच शनिवार दोपहर में दोबारा गोदाम में आग लग गई। तो फिर दमकल की एक गाड़ी वहां पहुंची और आग पर काबू पाया।

बाप-बेटे की ट्रेन से कट कर दर्दनाक मौत, साले ने कूद कर बचाई जान

अग्निकांड में अनिल की मौत की जानकारी पर उसकी पत्‍‌नी कंचन मौके पर पहुंची। उसने गोदाम मालिक पर गंभीर आरोप लगाए। कंचन भी उक्त गोदाम में काम करती हैं। उन्होंने कहा कि आग रात में लगी थी और उनके पति का शव सुबह सात बजे मिला था। बावजूद इसके उन्हें इसकी सूचना नहीं दी गई। एक मजदूर ने सुबह करीब नौ बजे उन्हें फोन पर घटना की जानकारी दी। कंचन ने पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है। उनके परिवारीजनों का भी कहना है कि गोदाम मालिक इस हादसे के जिम्मेदार हैं। उन्हें पता था कि अनिल और राधेश्याम भीतर हैं। बावजूद इसके उन्हें बचाने का कोई प्रयास नहीं किया गया। परिवारीजनों ने उचित मुआवजे की मांग की है।

आवश्यक सूचना : लखनऊ के पारा थाना क्षेत्र से महिला लापता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here