Home क्राइम महादेव मंदिर की दावेदारी को लेकर भिड़े दो पक्ष, पुलिस निगरानी में...

महादेव मंदिर की दावेदारी को लेकर भिड़े दो पक्ष, पुलिस निगरानी में हुआ रुद्राभिषेक

74
0
SHARE

महादेव मंदिर की दावेदारी को लेकर भिड़े दो पक्ष, पुलिस निगरानी में हुआ रुद्राभिषेक
सरोजनी नगर के शांति नगर स्थिति विश्वेश्वर महादेव मंदिर में रुद्राभिषेक कराने को लेकर दो पक्ष आपस में भिड़े
लखनऊ । प्रदेश भर में जहां भोले भक्त महाशिवरात्रि पर्व पर भक्ति के रस में झूम रहे हैं। वहीं, राजधानी स्थित सरोजनी नगर के शांति नगर स्थिति विश्वेश्वर महादेव मंदिर में रुद्राभिषेक कराने को लेकर दो पक्ष आपस में भिड़ गए। दोनों पक्ष शिव मंदिर में अपनी-अपनी दावेदारी जताने में लगे रहे। बताया जा रहा है कि एक दूसरे को रोकने का हर संभव प्रयास किया गया। मामला बिगड़ता देख स्‍थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को शांत कराया। इसके बाद पुलिस की मौजूदगी में रुद्राभिषेक किया गया।
ये है पूरा मामला
मामला सरोजनी नगर थाना क्षेत्र के शांतिनगर कालोनी का है। यहां स्थित शिव मंदिर ऋषिकुंज सेवा आश्रम समित द्वारा संचालित है। समित के प्रबंधक जय प्रकाश गुप्ता ने साल 2002 में निर्माण करवाया था। जयप्रकाश खुद ही मंदिर में पूजा पाठ, साफ सफाई आदि करते आ रहे हैं। 14 फरवरी 2018 को मंदिर में पांच मूर्तियों की स्थापना की है। मंदिर के पुजारी जय प्रकाश ने बताया कि महाशिवरात्रि के अवसर पर हर साल की तरह रुद्राभिषेक करने के परिवार और कालोनी के कुछ लोगों के पहुंचे। तभी शांतिनगर निवासी संजय शुक्ला ने दबंगई दिखाते हुए मंदिर में पूजा करने से मना कर दिया। इसके बाद दोनों पक्षों में विवाद होने लगा। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया। इसके बाद पुलिस की मौजूदगी में शिव मंदिर में पूजा अर्चना के साथ रुद्राभिषेक संपन्न कराया गया।
सीएम से लेकर अलाधिकारीयों को लिखा था पत्र
निवासियों का कहना है कि इसके पूर्व भी संजय शुक्ला ने पुजारी जयप्रकाश को मारपीट करते हुए मंदिर से निकाला था। मंदिर में अपना ताला जड़ दिया था। जय प्रकाश ने मामले में मुख्यमंत्री समेत अन्य अलाधिकारीयों के साथ ही पुलिस को लिखित शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार भी लगाई थी।
क्या है पुलिस का कहना
थाना प्रभारी प्रमेंद्र कुमार सिंह के मुताबिक, मंदिर में दोनों पद अपना अपना दावा बता रहे हैं। मंदिर में रुद्राभिषेक को लेकर दोनों पक्षों में विवाद हुआ था। लेकिन दोनों पक्षों को समझा कर विवाद शांत करा दिया गया। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here