Home महाराष्ट्र भारत फोन करने से डरता है दाऊद इब्राहिम!

भारत फोन करने से डरता है दाऊद इब्राहिम!

68
0
SHARE

मुंबई । पुलिस के हत्थे चढ़े इकबाल कासकर ने अपने बड़े भाई और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के बारे में कई अहम खुलासे किए हैं। उसने पुलिस को बताया है कि दाऊद फिलहाल पाकिस्तान में ही है। कासकर के मुताबिक, उसे पाकिस्तान में दाऊद के चार-पांच पतों की जानकारी है।
हिन्दुओं के साथ हो रहे नाइंसाफी पर हाईकोर्ट ने सुनाया बड़ा फैसला
इकबाल कासकर ने बताया कि दाऊद फिलहाल कराची में रह रहा है। उसके पाकिस्तान में चार और ठिकाने हैं। दाऊद से संपर्क होने के बारे में पूछे जाने पर इकबाल ने बताया कि बड़े भाई अनीस अहमद ने उसे कई बार इंटरनैशनल नंबरों से संपर्क किया है। हालांकि, दाऊद ने बीते तीन सालों में कभी भी भारत में अपने एजेंट्स या रिश्तेदारों से संपर्क नहीं किया है। उसे डर है कि कहीं उसका फोन टैप न हो जाए। इकबाल कासकर का तो यह भी दावा है कि ठाणे में चल रहे जबरन वसूली के धंधे में दाऊद की कोई भूमिका नहीं है।

शिवपाल होंगे लोहिया ट्रस्ट के नए सचिव

बता दें कि भारत के मोस्ट वॉन्टेड अपराधी दाऊद इब्राहिम के काफी वक्त से पाकिस्तान में होने के बारे में जानकारी है। हालांकि, पाकिस्तान इस बात से इनकार करता रहा है। दाऊद भले ही कुछ सालों से भारत में किसी से संपर्क करने में कतरा रहा हो, लेकिन उसके नजदीकी और भाई अनीस इकबाल कासकर के संपर्क में है। अनीस वही शख्स है, जो दाऊद को बिजनस चलाने में मदद करता है। कासकर ने बताया कि अनीस कई बार ईद और दूसरे मौकों पर अंतरराष्ट्रीय नंबरों से फोन करता रहा है। पुलिस के मुताबिक, अनीस अहमद भी 1993 बम धमाकों में शामिल रहा है।
जानिए क्यों, सीएम योगी और डिप्टी सीएम का इस्तीफा मंजूर
कासकर पर आरोप है कि बीते 3 सालों में उसने ठाणे इलाके के जूलर्स और बिल्डर्स से करीब 100 करोड़ रुपये की उगाही की और ये पैसा दाऊद तक पहुंचाया। हालांकि, कासकर इस बिजनस में दाऊद की भूमिका को सिरे से खारिज करता है। हालांकि, कासकर का यह भी कहना है कि उसके दाऊद के सबसे खास गुर्गे छोटा शकील से अच्छे रिश्ते नहीं हैं।

टीचर से परेशान पांचवीं के छात्र ने खाया जहर, मौत

वह तो यह दावा करता है कि उसे छोटा शकील से नफरत है। पुलिस अब कासकर से उन कारोबारियों और बॉलिवुड हस्तियों के नाम उगलवाने में जुट गई है, जिनके दाऊद से अच्छे रिश्ते हैं। मामले से जुड़े एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया कि कासकर कुछ बातें बढ़ा-चढ़ाकर पेश कर रहा है। उसके बयानों की जांच हो रही है। इससे केंद्रीय एजेंसियों को दाऊद के खिलाफ मदद मिलेगी।

प्रसाद इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंसेस पर छापा, नोटिस के बावजूद चल रहा था कॉलेज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here