Home उत्तर प्रदेश आने वाली होली बृजभूमि में मनाएंगे सीएम योगी

आने वाली होली बृजभूमि में मनाएंगे सीएम योगी

938
0
SHARE

सीतापुर| धर्मस्थल राष्ट्रीय एकात्मता का सबसे बड़ा केन्द्र हैं। तीन हजार वर्ष पूर्व जब तमाम मजहब नहीं थे, तब भी नैमिष का अस्तित्व था। भारत सांस्कृतिक राष्ट्र के रूप में हजारों सालों से समृद्ध है। देश की एकता-अखंडता को बनाए रखने में हमारी संस्कृति का अहम योगदान है। यूरोपीय देशों की तरह भारत भी खंडित हो गया होता यदि हमारी संस्कृति-सभ्यता जरा भी कमजोर होती। पिछली दीपावली हमने अयोध्या में भव्य रूप में मनाई है। पूरी सरकार अयोध्या में मौजूद थी। अब तैयारी बृज की है। आने वाला होली का पर्व बरसाने में भव्य रूप से मनाया जाएगा।

स्कोप अस्पताल में आग से भारी नुकसान, मरीजों को पुलिस ने सुरक्षित निकाला
ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने शुक्रवार को विश्व प्रसिद्ध तीर्थ नैमिषारण्य में कहीं। श्री योगी दो दिवसीय ‘नैमिषेय शंखनाद’ कार्यक्रम के समापन अवसर पर एक सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि किसी भी देश की आत्मा उसकी संस्कृति होती है। संस्कृति के बिना कोई देश बहुत दिनों तक चल नहीं सकता। दुनिया भौतिकतावाद के पीछे भाग रही है। ऐसे में नैमिष में सांस्कृतिक शंखनाद का आयोजन कर हम देश-दुनिया के श्रद्धालुओं को एक सांस्कृतिक मंच देने के प्रयास में जुट गए हैं। अयोध्या में दशकों से चली आ रही रामलीला बंद करा दी गई थी। हमने इस बार रामलीला शुरू करवाई है। बहुत शांतिपूर्ण और सौहार्दपूर्ण वातावरण में रामलीला का आयोजन हुआ।

सिपाही ने जान की परवाह न करते हुए बदमाश को दबोचा
दीवाली अयोध्या में हुई : पिछली दीपावली भव्य रूप से श्रीराम की जन्मस्थली अयोध्या में प्रदेश सरकार ने मनाई है। अब आने वाली होली हम बृजभूमि में मनाएंगे। होली पर्व पर प्रदेश सरकार बरसाने में रह कर भव्य रूप से होलिकोत्सव मनाएगी। इसकी तैयारियां शुरू कर दी गई है।
नैमिष के व्यास आश्रम में संस्कार भारती द्वारा आयोजित ‘नैमिषेय शंखनाद’ कार्यक्रम के समापन अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश सांस्कृतिक-धार्मिक महत्व से बेहद समृद्धशाली है। यहां भगवान श्रीराम और कृष्ण की जन्मभूमि है। देश-दुनिया के श्रद्धालु प्रदेश की पावन धरा पर आकर अपने को धन्य समझते हैं। श्री योगी ने कहा कि इलाहाबाद का कुम्भ मेला ऐतिहासिक है।इस मेले की महत्ता से विदेशी भी भलीभांति परिचित हैं। बड़ी संख्या में विदेशी श्रद्धालु कुम्भ स्नान कर अपने को धन्य करते हैं। कुम्भ मेले की व्यापक तैयारियां शुरू कर दी गई हैं।

415 रोगियों की जांच कर निःशुक्ल औषधियाँ वितरित की गयी

हर दिन होनी चाहिए गोमती नदी की आरती : गोमती की स्थिति पर चिंता जताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि नदियां जीवनदायिनी होती हैं। प्रदेश में नदियों की स्थिति अच्छी नहीं है। इनकी साफ-सफाई पर ध्यान नहीं दिया गया है। नैमिषारण्य तीर्थ भी गोमती नदी तट पर बसा है। गोमती नदी की स्थिति भी बेहद चिंताजनक है। नदियों को बचा कर ही हम अपनी संस्कृति को बचाए रख सकते हैं। श्री योगी ने कहा कि गोमती नदी को पुनर्जीवित करना है। उन्होंने नैमिषारण्य स्थित गोमती तट पर हर रोज आरती करने का आह्वान भी किया।
अयोध्या का नाम लेते ही अफसर भी चौंक पड़े थे : बिना किसी का नाम लिए श्री योगी ने कहा कि पूर्व के समय में कई जगहों पर कांवर यात्रा तक पर रोक लगा दी जाती थी। भगवान राम की पावन भूमि पर दशकों से चली आ रही रामलीला पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया। सरकार बनते ही हमने कांवर यात्रा और अयोध्या में रामलीला के बारे में पूछा तो अफसर भी चौंक पड़े।

व्यापारियों ने हंसखेड़ा चौकी इंचार्ज के खिलाफ एसएसपी को दिया शिकायती पत्र

अफसरों से पूछा कि कांवर यात्रा पर सरकार को क्या फैसला लेना चाहिए तो अफसरों ने कहा कि कांवर यात्रा में बवाल की बहुत संभावनाएं रहती हैं। अफसरों से मैंने कहा, ‘तो कांवर यात्रा ही रद्द करवा दीजिए।’ श्री योगी ने कहा कि उन्होंने अफसरों की बनाई पूरी रिपोर्ट को रद्द करते हुए कहा कि कांवर यात्रा होगी और सुरक्षा की मुकम्मल व्यवस्था भी। साथ ही दो हेलीकाप्टर निगरानी और कांवरियों पर पुष्पवर्षा के लिए लगा दिए। कांवर यात्रा सकुशल व शांतिपूर्वक सम्पन्न हो गई। श्री योगी ने कहा कि पर्व-त्योहार हमारे देश की संस्कृति हैं और संस्कृति राष्ट्र की आत्मा होती है। पर्व-त्योहार आपसी बैर-भाव भुलाकर भाईचारे और प्रेम को बढ़ाते हैं।

नाबालिग कैंसर पीड़ित से बलात्कार का मामला : मददगार ने भी किया दुराचार
नैमिष को सौ करोड़ की सौगात : मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने नैमिषारण्य के विकास के लिए सौ करोड़ रुपए की योजनाओं की घोषणा भी की। इसमें 25 करोड़ रुपए विश्व प्रसिद्ध 83 कोसी परिक्रमा मार्ग पर खर्च होंगे। इसके अलावा ललिता कुंड, आरोग्य पार्क, रुद्रावर्त और चक्रतीर्थ समेत विभिन्न धर्मस्थलों पर खर्च होंगे।

यूपी के मिर्जापुर-सोनभद्र मार्ग पर बड़ा सड़क हादसा, 13 की मौत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here