Home क्राइम KGMU में स्टाफ टॉयलेट इस्तेमाल करने पर मरीज पर बरसाए थप्पड़, तीन...

KGMU में स्टाफ टॉयलेट इस्तेमाल करने पर मरीज पर बरसाए थप्पड़, तीन संविदा कर्मी बर्खास्त

45
0
SHARE

लखनऊ। केजीएमयू में कर्मचारियों ने कैंसर पीडि़त एक बुजुर्ग महिला और उसके बेटे की पिटाई कर दी। मरीज का कुसूर सिर्फ इतना था कि उसने यहां न्यू ओपीडी बिल्डिंग में बने स्टाफ शौचालय का इस्तेमाल किया था। इतने में काउंटर पर पर्चा बना रहे कर्मचारियों ने अन्य साथियों को बुला लिया और मरीज से धक्का-मुक्की शुरू कर दी। इस पर मरीज चिल्लाने लगी तो उसे छोड़ दिया गया और उसके बेटे को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया।
ये घटना तब हुई जब थोड़ी देर पहले ही केजीएमयू के ब्राउन हॉल में चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन डॉक्टरों व कर्मचारियों को नसीहत देकर निकले थे कि मरीजों से अच्‍छा व्यवहार करें। वहीं, केजीएमयू प्रशासन ने घटना के वीडियो की जांच कर कार्रवाई के लिए पुलिस में रिपोर्ट दी है। साथ ही निजी कंपनी के तीन कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया गया है। न्यू ओपीडी के इंचार्ज प्रो. मनीष वाजपेयी को मामले की जांच सौंपी गई है।
काकोरी निवासी कांति देवी कैंसर से पीडि़त हैं। वे न्यू ओपीडी बिल्डिंग में अपने बेटे कौशलेंद्र के साथ केजीएमयू में इलाज के लिए आईं थीं। यहां पर पर्चा काउंटर पर उनका बेटा पर्चा बनवा रहा था। इस दौरान वे स्टाफ के लिए बने शौचालय में चली गईं। पर्चा काउंटर पर बैठे कर्मचारियों की नजर जैसे ही शौचालय की ओर पड़ी वे गाली-गलौच करते हुए बाहर निकले। बोले-इस शौचालय में जाने की हिम्मत कैसे पड़ी।
बुजुर्ग कुछ बोल पाती कि दस-पंद्रह कर्मचारी उन्हें धक्का देने लगे और पिटाई शुरू कर दी। बेटे कौशलेंद्र सिंह ने मां को छुड़ाया और कर्मचारियों को रोकने की कोशिश की तो सब उस पर टूट पड़े। पिटाई के बाद धक्के देकर उसे केजीएमयू से बाहर कर दिया गया। भुक्तभोगी का कहना है कि यहां मरीजों के साथ जानवरों जैसा बर्ताव किया जाता है। इसकी शिकायत वे सीएम योगी आदित्यनाथ से करेंगे।
उधर, घटना के बाद केजीएमयू प्रशासन चौकन्ना हुआ। केजीएमयू के प्रॉक्टर प्रो. आरएएस कुशवाहा का कहना है कि लायन टच मैनेजमेंट सर्विस के संविदा कर्मचारियों जितेश कुमार, नवीन कुमार व जीत सिंह जो कि कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर न्यू ओपीडी में कार्यरत हैं, को इस मामले में बर्खास्त कर दिया गया है। साथ ही चौक कोतवाली में भी मामले की रिपोर्ट भेज दी गई है। सीसी फुटेज से चिह्नित कर अन्य कर्मचारियों पर भी कार्रवाई होगी। इससे पहले बुधवार को डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में भी गोंडा के एक मरीज और उसकी पत्नी को डॉक्टर ने एमबीबीएस छात्रों को बुलवाकर पिटवाया था।
तीमारदार ने वीडियो बनाकर किया वायरल
केजीएमयू में कर्मचारी जब महिला व उसके बेटे की पिटाई कर रहे थे तो किसी तीमारदार ने इसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुए इस वीडियो से केजीएमयू की खासी किरकिरी हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here