Home क्राइम सिपाही ने जान की परवाह न करते हुए बदमाश को दबोचा

सिपाही ने जान की परवाह न करते हुए बदमाश को दबोचा

915
0
SHARE

दोनो तरफ से हुई फायरिंग में बदमाश को लगी गोली, अस्पताल में भर्ती
डीजीपी ने किया सर्वोच्चय स मान, एसएसपी ने दिया 15 हजार का इनाम
लखनऊ। राजधानी में बदमाश अब पुलिस को भी नहीं बख्श रहे है उनके दिल से डर नाम की चीज खत्म सी होती नजर आ रहीं है जिसका ताजा परिणाम थाना जानकीपुरम क्षेत्र में पुलिस व बदमाशों के बीच हुई भिड़ंत से लगाया जा सकता है। गैस सिलेडंर चोरी कर ले जा रहे दो लोगों को क्षेत्र में गस्त कर रही चीता मोबाइल पर तैनात सिपाहियों ने रोका कि दोनों बदमाश सिपाहियों से भिड़ गए। जब तक दोनों पुलिसकर्मी समझ पाते कि इन पर भारी पड़ गए और फायरिंग शुरू कर दी।

415 रोगियों की जांच कर निःशुक्ल औषधियाँ वितरित की गयी
इसी बीच सिपाही रामनरेश यादव ने अपना बचाव करते हुए सरकारी पिस्टल से फायरिंग की, जिससे एक बदमाश के पैर में गोली लगते ही वहीं गिर पड़ा। साथी को गोली लगते देख मौके दूसरा भाग निकला। जबकि घायल बदमाश को पुलिस ने बलरामपुर अस्पताल में भर्ती कराया है जहां उसका उपचार चल रहा है। पुलिस ने आरोपी के पास से के घटना में प्रयुक्त 315 बोर का तमंचा, जिंदा कारदतूस व गैस सिलेंडर बरामद किया है। वहीं दोनों सिपाहियों की बहादुरी देख डीजीपी सुलखान सिंह ने पुलिस को दिया जाने वाला सर्वोच्चय स मान सिपाही को दिया है और एसएसपी दीपक कुमार ने भी सराहना करते हुए 15 हजार का इनाम देने की घोषण की है।

व्यापारियों ने हंसखेड़ा चौकी इंचार्ज के खिलाफ एसएसपी को दिया शिकायती पत्र
एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि रविवार की रात करीब 1.30 बजे जानकीपुरम थाने की चीता मोबाइल पर सिपाही रामनरेश यादव व विश्वनाथ जायसवाल क्षेत्र में गस्त कर रहे थे कि देखा कि दो लोग गैस सिलेंडर कंधे पर लादकर लिए जा रहे हैं। इस पर दोनों सिपाही उन्हें रोका कि इतनी रात को गैस सिलेंडर लेकर जा रहे हो। पुलिस की अवाज सुनते ही दोनों बदमाश भागने लगे कि दोनों सिपाही अपनी जांबाजी का परिचय देते हुए दोनों को पकड़ लिया कि बदमाशों ने सिपाहियों से भिड़ गए।

नाबालिग कैंसर पीड़ित से बलात्कार का मामला : मददगार ने भी किया दुराचार
बताया गया कि इसी बीच एक बदमाश ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। गोली चलते ही सिपाही रामनरेश ने भी अपना बचाव करते हुए सर्विस पिस्टल से गोली चला दी,जिससे पैर में गोली लगते ही एक बदमाश गिर पड़ा,जबकि दूसरा मौके का फायदा उठकार भाग निकला। एसएसपी के मुताबिक पूछताछ में पकड़ा गया आरोपित गुडम्बा के पहाड़पुर निवासी अरविन्द रावत बताया, जबकि उपरोक्त निवासी सफीक खान मौके से भाग निकला। इस पर बदमाशों से भिडंत कर उसे दबोचने वाले सिपाही रामनरेश व विश्वनाथ की सराहना करते हुए एसएसपी ने पुरस्कृत करने का आश्वासन दिया है।

यूपी के मिर्जापुर-सोनभद्र मार्ग पर बड़ा सड़क हादसा, 13 की मौत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here