Home उत्तर प्रदेश बीआरडी का पूर्व प्रिंसिपल को एसटीएफ ने दबोचा

बीआरडी का पूर्व प्रिंसिपल को एसटीएफ ने दबोचा

335
0
SHARE

लखनऊ। यूपी के गोरखपुर जिले में स्थित बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज (बीआरडी अस्पताल) में पिछले दिनों ऑक्सीजन की सप्लाई बंद होने से हुई 70 मासूम बच्चों की मौत के मामले में पुलिस ने मेडिकल कॉलेज के पूर्व प्रिंसिपल डॉ. राजीव मिश्रा और उनकी पत्नी डॉ. पूर्णिमा शुक्ला को यूपी एसटीएफ की टीम ने गिरफ्तार किया गया है।

यह भी पढें:-महिला की हत्या कर नग्न अवस्था में फेंका शव

एसटीएफ की टीम दोनों से अलग-अलग जगहों पर पूछताछ कर रही है। बता दें कि आज सुबह ही पुलिस और मेडिकल विभाग की टीम ने इस हादसे के आरोप में फंसे डॉ. कफील खान के घर भी छापेमारी करके तलाशी ली। टीम ने उनके घर से कुछ अहम दस्तावेज भी कब्जे में लिए हैं।

यह भी पढें:-पूर्व मंत्री रविदास मेहरोत्रा की गाड़ी से मिले 30 लाख के नकली नोट
बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 10 व 11 अगस्त को अधिक बच्चों की मौत होने के बाद गोरखपुर के जिलाधिकारी को जांच सौंपी गई थी। डीएम की रिपोर्ट में मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य से लेकर कई अन्य जिम्मेदार डॉक्टरों को लापरवाही का तो दोषी माना गया था, लेकिन ऑक्सीजन की कमी की बात सामने नहीं आई थी। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी की रिपोर्ट पर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में जांच समिति गठित कर एक हफ्ते में रिपोर्ट मांगी थी।

यह भी पढें:-यूपी के आजमगढ़ में डॉक्टर की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या

मामले में कई स्तरों पर अधिकारियों की उदासीनता और लापरवाही की बातें सामने आई थीं। ऑक्सीजन की आपूर्ति करने वाली फर्म ने कॉलेज के प्राचार्य से लेकर महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा और अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा तक को कई पत्र भेजे थे, फिर भी किसी ने इसे गंभीरता से लेकर भुगतान के लिए तत्परता नहीं बरती। चर्चा में यह भी था कि घटना से एक दिन पहले मुख्यमंत्री बीआरडी मेडिकल कॉलेज गए थे, जबकि अपर मुख्य सचिव अनिता भटनागर जैन सीएम दौरे से एक दिन पहले ही गोरखपुर पहुंच गईं थीं, फिर भी ऑक्सीजन का भुगतान रुका होने की बात सामने नहीं आई।

यह भी पढें:-जानते है दिन में 34 बार सेक्स के बारे में सोचते हैं पुरुष, देखे वीडियो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here