Home बड़ी ख़बर बिहार में 153 लोगों की मौत, लाखों लोग बाढ़ से प्रभावित

बिहार में 153 लोगों की मौत, लाखों लोग बाढ़ से प्रभावित

415
0
SHARE

पटना। बिहार में आई बाढ़ से सरकारी आकड़ों के हिसाब से अब तक 153 की मौत हो चुकी है। जबकि बाढ़ प्रभावित जिलों का दौरा करने पहुंचे एनडीआरएफ के जवानों के अनुसार मरने वालों की संख्या हजारों के पार हो चुकी है। सबसे ज्यादा अररिया में लोगों की मौत हुई है।

यह भी पढें:-कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस के छह डिब्बे पटरी से उतरे, सैकड़ों घायल

उधर गोपालगंज में गंडक नदी पर बना तटबंध शुक्रवार को फिर टूट गया। जिसके कारण इस जिले के अलावा सारण जिले के भी कई गांवों में पानी घुस गया। पानी में डूबने से चार लोगों की मौत भी हो गई। इसे मिलाकर सूबे में पिछले 24 घंटे में बाढ़ के कारण 26 लोगों की मौत हो चुकी है। बाढ से बिहार के 13 जिलों की करीब 70 लाख की आबादी प्रभावित है।

यह भी पढें:-जानिए पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से कौन-कौन से फायदें

अररिया, पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, दरभंगा, किशनगंज, सीतामढ़ी सहित मधेपुरा जिले बाढ़ से ज्यादा प्रभावित हैं। दरभंगा के घनश्यामपुर में तटबंध टूटने से समस्तीपुर के सघिया प्रखंड में पानी भर गया है। पूर्वी चंपारण में मधुबनी घाट के पास शुक्रवार को सड़क ध्वस्त हो गई जिससे मोतिहारी-पकड़ीदयाल का सड़क संपर्क टूट गया। मधुबनी-सीतामढ़ी, शिवहर-सीतामढ़ी व शिवहर-मोतहारी का सड़क सम्पर्क अब भी बाधित है।

यह भी पढें:-नाराज बेटे ने पिता को मिट्टी तेल डालकर जलाया

गोपालगंज के बैकुंठपुर के मूंजा गांव गंडक नदी का सारण मुख्य तटबंध 50 फुट में टूट गया। इससे पानी जगदीशपुर, मूंजा, बखरी, हेमू छपरा सहित कई गांवों में फैल गया। गुरुवार को भी बंगरा गांव के पास तटबंध टूट गया था जिससे कई गांव जलमग्न हो गए थे। कोसी, सीमांचल, चंपारण और सीतामढ़ी में पानी थमने के बावजूद बाढ़ से घिरे हजारों गांवों में तबाही का मंजर दिखने लगा है।

यह भी पढें:-अमरोहा में चोटी कटने से महिला की मौत

सड़कें जहां-तहां टूटी हुई हैं इसलिए अभी आवागमन मुश्किल है। पूर्णिया से बनमनखी तक रेल सेवा शुरू हो गई है लेकिन कटिहार रेलखंड अभी भी बाधित है। कहीं-कहीं राहत शिविरों से लोग अपने घरों को लौटने लगे हैं तो कहीं-कहीं शिविर में जमे हुए हैं और घरों से पानी निकलने का इंतजार कर रहे हैं। सुपौल में बाढ़ से क्षतिग्रस्त एनएच 327 ई जदिया के पास सड़क को ठीक कर दिया गया है। मधेपुरा जिले के सर्वाधिक बाढ़ प्रभावित आलमनगर, चौसा के साथ ही सदर प्रखंड, मुरलीगंज, ग्वालपाड़ा, कुमारखंड आदि प्रखंडों के में राहत कार्य तेज कर दिया गया है।

यह भी पढें:-डी 9 गैंग का सरगना को उत्तर प्रदेश पुलिस ने मार गिराया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here