Home क्राइम नौकरी पाने के लिए भाई की हत्या

नौकरी पाने के लिए भाई की हत्या

130
0
SHARE

पिता के देहवासान के बाद फण्ड और मृतक आश्रित में खुद पाना चाहता था सर्विस
लखनऊ। अलीगंज इलाके में पिता के देहवासान के बाद मृतक आश्रित में नौकरी पाने की लालच ने सौतेले भाई की गला दबाकर निर्मम हत्या कर दी। घटना पिछले वर्ष 31 अक्टूबर की है। हत्यारोपी ने गुमराह करने के लिए पुलिस को खुद सूचना दी और घर छोड़कर भाग निकला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि हुई थी। पुलिस ने आरोपी भाई और उसके सालों को गिर तार कर खुलासा किया है।

यह भी पढें:-लखनऊ में होटल मालिक की हत्या का मामला, नेता बनता है मारो गोली
एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि बीते वर्ष 31 अक्टूबर को अलीगंज नवीन गल्ला मण्डी सुलभ शौचालय के पास 6 लोक सोवा आयोग अलीगंज निवासी प्रदीप बाल्मिकी का शव मिला था। मृतक के सौतेले भाई लल्ला ने पुलिस को सूचना दी थी कि अधिक शराब पीने के चलते प्रदीप की मौत हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में प्रदीप की मौत गला दबाने से होने की पुष्टि हुई थी, लेकिन तब तक लल्ला घर छोड़कर भाग चुका था। पुलिस ने हत्यारोपी लल्ला और उसके साले आशीष उर्फ छोटू व उमेश बाल्मिकी को शुक्रवार देर रात गिरफ्तार किया है।

यह भी पढें:-एक दिन में 18 बार सेक्स करना चाहती हैं लड़कियां, जानिये क्यों…

एसएसपी ने बताया कि प्रदीप के पिता की पहली पत्नी खातूना का पुत्र लल्ला था, जबकि उसकी दूसरी पत्नी प्रदीप और अमित थे। उन्होंने बताया कि प्रदीप के पिता मुन्नालाल लोक सेवा आयोग पुरनिया में सफाई कर्मचारी थे। ड्यूटी के दौरान मुन्ना का देहवासान हो गया था। प्रदीप मृतक आश्रित में अपने भाई अमित को नौकरी दिलाना चाहता था और फण्ड का पैसा बराबर हिस्से में सभी में बांटना चाहता था, लेकिन लल्ला खुद ही नौकरी करना चाहता था।

यह भी पढें:-आत्मघाती हमले में 8 सीआरपीएफ के जवान शहीद

प्रदीप प्रभावशाली था, जिसके चलते लल्ला और उसकी बनती नहीं थी। सम्पत्ति और नौकरी को लेकर दोनों में कई बार मारपीट भी हो चुकी थी। पुलिस के मुताबिक पिछले वर्ष दिवाली के एक दिन पूर्व लल्ला के साले उमेश और आशीष ने दोनों पक्षों में सुलह करा दी थी। सोची समझी साजिश के तहत दिवाली वाले दिन लल्ला के घर पार्टी हुई थी।

यह भी पढें:-बाबा की सुरक्षा में तैनात 6 पुलिसकर्मियों सहित 2 पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज

इस दौरान लल्ला ने प्रदीप को शराब पिलाई थी, फिर लल्ला और उसके साले प्रदीप को लेकर नवीन गल्लामण्डी सुलभ शौचालय के पास ले गए थे। यहां उन्होंने प्रदीप को और शराब पिला दी थी। प्रदीप शराब के नशे धुत होकर बेसुध हो गया। इसका फायदा उठाते हुए लल्ला ने प्रदीप का गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी थी और पुलिस को सूचना दी थी। आरोपियों से अन्य जानकारियां हांसिल करने के बाद पुलिस ने उन्हें जेल रवाना किया है।

यह भी पढें:-पुलवामा में आतंकी हमलें के दौरान तीन जवान शहीद

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here