Home क्राइम चारबाग पानदरीबा में युवक को मारी गई गोली

चारबाग पानदरीबा में युवक को मारी गई गोली

1533
0
SHARE

लखनऊ| एक बार फिर राजधानी पुलिस को बेखौफ बदमाशों ने चुनौती देते हुए चारबाग स्टेशन के समीप पानदरीबा चौराहे पर कार सवार युवक को बदमाशों ने गोली मारकर घायल कर दिया। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने घायल को इलाज करने के लिए ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया जहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है|

आने वाली होली बृजभूमि में मनाएंगे सीएम योगी
कैसरबाग के भुइयनदेवी मंदिर के पास रहने वाले शुभम त्रिवेदी अपने दो परिचितों के साथ स्विफ्ट डिजायर कार से कहीं जा रहा था। जानकारी के अनुसार पान दरीबा चौकी से 200 मीटर की दूरी पर सब्जी मंडी के पास अज्ञात बाइक सवारों ने कार को घेर लिया। देखते ही देखते बदमाशों ने कार पर फायरिंग कर दी। फायरिंग की चपेट में आने से शुभम त्रिवेदी के बाएं कंधे पर गोली लग गई और वह लहूलुहान हो गया। वारदात के बाद कार सवार अन्य दोनों लोग भयभीत होकर शोर मचाने लगे।

स्कोप अस्पताल में आग से भारी नुकसान, मरीजों को पुलिस ने सुरक्षित निकाला

आसपास के लोगों ने बताया कि पहले तो टायर फटने की आवाज समझ में आई। हालांकि बाद में पता चला कि फायरिंग हुई है। अचानक हुई गोलीबारी से आसपास हड़कंप मचा तो आरोपी मौका पाकर पान दरीबा से नाका की ओर फरार हो गए। स्थानीय लोगों और घायल शुभम को ई-रिक्शा से ट्रॉमा अस्पताल के लिए रवाना किया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की पड़ताल शुरू की तो हमलावरों का कोई पता ही नहीं चल पाया।

सिपाही ने जान की परवाह न करते हुए बदमाश को दबोचा

अब आसपास के सीसीटीवी फुटेज के सहारे पुलिस आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। थानाध्यक्ष परशुराम सिंह के अनुसार स्विफ्ट कार मकबूलगंज के रहने वाले राजेश कुमार की है जबकि हमलावरों की पहचान नहीं हो पाई। समाचार लिखे जाने तक पीडि़त पक्ष की ओर से कोई तहरीर नहीं दी गई है। हालांकि पुलिस का दावा है कि तहरीर मिलते ही मुकदमा दर्ज कर लिया जाएगा।

सिपाही ने जान की परवाह न करते हुए बदमाश को दबोचा
पुलिस की मुस्तैदी पर सवाल-
घटनास्थल से केवल 200 मीटर की दूरी पर हमलावरों ने वारदात को अंजाम दे दिया लेकिन मुस्तैद पुलिस मौके पर नहीं पहुंच सकी। यही कारण है कि आरोपी घटना को अंजाम देने के बाद बड़े आराम से फरार भी हो गए और पुलिस हाथ चौकी ही रखती रह गई। इसी तरह सरोजनीनगर में बीते दिनों कैंसर पीडि़ता के साथ रेप के मामले में भी यूपी 100 की गाड़ी घंटों बाद पहुंची थी।

415 रोगियों की जांच कर निःशुक्ल औषधियाँ वितरित की गयी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here