Home लखनऊ लापरवाही के कारण कोई भी अंग ल्यूपस की चपेट में आ सकता...

लापरवाही के कारण कोई भी अंग ल्यूपस की चपेट में आ सकता है : डॉ.आरएन मिश्रा

459
0
SHARE

लखनऊ। जब दवाएं फायदा न करें और बीमारी के कारण भी पता न चल सकें तो आप अपने शरीर के दुश्मन बन चुके हैं। यह लापरवाही मरीज के लिए जानलेवा साबित हो सकती है। यह बात गुरूवार को एसजीपीजीआई के इम्यूनोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ.आरएन मिश्रा ने कही। वे इंडियन रयूमेटोलॉजी एसोसिएशन द्वारा आयोजित चार दिवसीय वार्षिक अधिवेशन के दौरान ल्यूपस नामक बीमारी के प्रति लोगों में जागरुकता लाने के लिए प्रेसवार्ता को सम्बोधित कर रहे थे। डॉॅ . मिश्र ने कहा कि ल्यूपस ऐसी बीमारी है,जिसमें मरीज का शरीर उसका दुश्मन बन जाता है।

Lucknow में तैनात रहें आईपीएस अफसर आर. के. चतुर्वेदी को मिला सेवा विस्तार
इस बीमारी में शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता समाप्त हो जाती है। इस बीमारी में सर के बाल से लेकर पांव के नाखून तक किसी भी अंग में डिफेक्ट आ सकता है। डॉ. मिश्रा के अनुसार ल्यूपस की चपेट में लीवर,किडनी,फेफड़ तथा हड्डीयां आदि कोई भी शरीर का अंग आ सकते हैं। यदि इन मरीजों को रयूमैटोलाजिस्ट के पास ले जाया जाये,तो बीमारी तथा उसके कारणों का सटीक पता लगाया जा सकता है।

पत्रकार को पांच गोलियां मारकर, बड़े आराम से भाग निकले बदमाश

इस अवसर पर आटोइम्यून बीमारीयों के विशेषज्ञ डा.रामराज सिंह ने बताया कि ल्यूपस बीमारी की चपेट में महिलायें ज्यादा आती हैं। इस बीमारी में 10 हजार की आबादी में एक व्यक्ति इस बीमारी से पीडि़त होता है।यह अधिवेशन 30 नवम्बर से 3 दिसम्बर तक चलेगा। जिसमें आटो इम्यून से जुड़ी बीमारियों के इलाज व बीमारी को पता करने की नयी तकनीकों एवं इस विशेषज्ञता में संबंधित शोधों पर विस्तृत चर्चा होगी। आटोइम्यून बीमारी में 30 से अधिक बीमारियां आती हैं जो शरीर के अलग-अलग अंगों को प्रभावित कर उसकी कार्यप्रणाली को बाधित करती हैं।

अमेठी केजीबीवी में ‘अव्यवस्था का अंधेरा’ !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here