Home दिल्ली दिल्ली अंकित हत्याकांडः मात्र दो मिनट में ही माँ-बाप के सामने काट...

दिल्ली अंकित हत्याकांडः मात्र दो मिनट में ही माँ-बाप के सामने काट डाला गला

781
0
SHARE

नई दिल्ली | ख्याला के रघुवीर नगर में गुरुवार रात प्रेम-प्रसंग में युवती के परिजनों द्वारा गला रेतकर 23 वर्षीय अंकित को मार डाला गया। इस हत्याकांड को उसके मां-बाप की आंखों के सामने ही दो मिनट के अंदर अंजाम दिया गया। वारदात के बाद अंकित के माता-पिता लोगों की भीड़ के आगे मददा की गुहार लगाते रहे, लेकिन भीड़ में से कोई व्यक्ति या जानकर उनकी मदद के लिए आगे नहीं आया। परिजनों के अनुसार, अंकित सक्सेना फोटोग्राफी करता था और वह घर का इकलौता कमाने वाला सदस्य था। उसे गिटार बजाने, एक्टिंग और मॉडलिंग का शौक था। कई बड़े फिल्म स्टार और क्रिकेटरों के साथ खींची गईं तस्वीरें उसने सोशल मीडिया पर शेयर की थी।

सरोजनीनगर में किशोरी को अगवा करने का प्रयाश
युवती के जाने पर भड़के परिजन
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि युवती 1 फरवरी की शाम को अपने घर के दरवाजे की कुंडी लगाकर चली गई थी। घर में उसकी मां और भाई बंद थे। उन्हें लगा कि युवती और अंकित एक साथ भाग गए हैं। इसके बाद युवती की मां ने घटना की जानकारी अपने पति और भाई को दी। करीब 9 बजे पूरा परिवार इलाके में युवती को ढूंढ़ रहा था। इस बीच घर के पास अंध विद्यालय पर अंकित के स्कूटी पर होने की सूचना मिली। इसके बाद पूरे परिवार ने उसे घेर लिया और बेटी के बारे में पूछताछ की। परिजनों ने युवक पर अपनी बेटी को भगाने का भी आरोप लगाया। सूत्रों के अनुसार, अंकित ने युवती के बारे में जानकारी होने से इनकार कर दिया। मामला बढ़ने पर उसने फोन कर अपनी मां कमलेश और पिता यशपाल को बुला लिया। वहां अंकित के दोस्त और पड़ोसी भी मौजूद थे।

बंथरा में युवक की गला रेतकर हत्या, जंगल में मिला शव
माता-पिता के सामने इकलौती संतान को काट डाला
अंकित के पिता के हृदय में स्टेंट पड़ा हुआ है, इसलिए वह शारीरिक रूप से बेहद कमजोर हैं। माता पिता के आते ही युवती का परिवार उन पर झपट पड़ा। यह देखकर अंकित माता-पिता को बचाने के लिए दौड़ा। तभी युवती के भाई और मामा ने उसे खींचकर किनारे किया। इस बीच युवती के पिता ने चाकू से अंकित के गले पर प्रहार करना शुरू कर दिया।

गैस सिलेंडर लदे ट्रक ने बाइक सवार बाप-बेटी को रौंदा, एक की मौत
दो मिनट में हो गई वारदात
महज दो मिनट में ही सब कुछ खत्म हो गया। भीड़ और दोस्त मूकदर्शक बने रहे। किसी ने भी पीड़ित परिवार की सहायता करने की जहमत तक नहीं उठाई। माता-पिता ही खून से लथपथ बेटे को किसी तरह उठाकर ऑटो रिक्शे से गुरुगोविंद सिंह अस्पताल ले गए, जहां मौत हो गई।

Fake Encounter : युवक को गोली मारने वाला दारोगा गिरफ्तार, चार सस्पेंड
चार साल से संबंध थे
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि, युवती पहले अंकित के घर के सामने रहती थी। इस दौरान दोनों एक-दूसरे से प्यार करने लगे थे। करीब दो साल पहले लड़की के परिजनों को उनके बीच संबंधों के बारे में जानकारी मिली। इस पर वे यहां से मकान छोड़कर सौ मीटर दूर दूसरे मकान में चले गए। परिजनों के विरोध के बाद भी दोनों आपस में मिलते रहे। इस बात की जानकारी हाल ही में युवती के परिजनों को भी हो गई थी। इसलिए युवती के गायब होने पर उनका सीधा शक अंकित पर ही गया था।
(खबर का माध्यम गूगल)

राज्यपाल ने एनसीसी कैडेटों को पदक देकर किया सम्मानित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here