Home उत्तर प्रदेश देवरिया बालिका गृह यौन शोषण प्रकरण की जांच के लिए कमेटी गठित,...

देवरिया बालिका गृह यौन शोषण प्रकरण की जांच के लिए कमेटी गठित, डीएम सुजीत हटाये गए

175
0
SHARE

लखनऊ | उत्तर प्रदेश के देवरिया के शेल्टर होम में हुई घटना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बेहद नाराजगी जताई है। देवरिया के शेल्टर होम में हुई घटना पर सरकार ने सख्त रुख अपनाते हुए डीएम सुजीत कुमार को हटा दिया। एटा के जिलाधिकारी अमित किशोर को देवरिया का नया डीएम बनाया गया है। वहीं ईश्वर प्रसाद पांडेय को डीएम एटा के तौर तैनाती की गई है।
अनाधिकृत रूप से चल रहे महिला संरक्षण बाल गृह पर बंद किये जाने का निर्णय लिए जाने के समय रहे डीपीओ अभिषेक पाण्डेय को सस्पेंड कर दिया गया है। साथ ही दो अन्तरिम डीपीओ नीरज कुमार एवं अनूप सिंह पर विभागीय कार्रवाई किये जाने का आदेश दिया गया।
संपूर्ण प्रकरण की जांच के लिए अपर मुख्य सचिव महिला कल्याण रेणुका कुमार और अपर पुलिस महानिदेशक (महिला हेल्पलाइन) अंजू गुप्ता की जांच कमेटी के गठन का निर्देश दिए। रेणुका कुमार और एडीजी अंजू गुप्ता को जांच करने के लिए हेलीकॉप्टर से तत्काल देवरिया भेजा गया है। रीता बहुगुणा ने कहा कि पहले भी कई बार संरक्षण गृह को बंद करने के लिए नोटिस दिए गए। मामला बेहद गंम्भीर है हर बिंदु पर जांच होगी। जांच टीम की रिपोर्ट के बाद मामला साफ होगा।
क्या है मामला
पुलिस ने देवरिया के स्टेशन रोड पर संचालित बालिका गृह पर रविवार की देर रात छापेमारी की गई थी। इस दौरान 24 लड़कियां और महिलाएं मुक्त कराई गईं। जिला प्रोबेशन अधिकारी ने एक सप्ताह पूर्व संस्था की संचालिका और अधीक्षिका के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। एसपी रोहन पी कनय ने रात पौने ग्यारह बजे पत्रकार वार्ता कर इस कार्रवाई की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बालिका गृह से भाग कर आई एक बच्ची ने झाड़ू पोछा कराने का आरोप लगाया था। उसी आधार पर पुलिस की चार टीमों ने महिला कांस्टेबल के साथ छापेमारी की। संस्था से जुड़े पांच लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here