Home क्राइम डीसीएम की टक्कर से छात्र की मौत, बेकाबू भीड़ पर लाठीचार्ज

डीसीएम की टक्कर से छात्र की मौत, बेकाबू भीड़ पर लाठीचार्ज

829
0
SHARE

लखनऊ। राजधानी के ठाकुरगंज थाना क्षेत्र में मंगलवार रात सड़क किनारे खड़ी बाइक में एक डीसीएम ने टक्कर मार दी। हादसे में एक युवक की मौत हो गई, जबकि दो घायल हो गए। पुलिस ने लोगों की मदद से डीसीएम चालक हरदोई निवासी हनुमान को दबोच लिया। वहीं, घायलों को अस्पताल भेज दिया। युवक की मौत पर आसपास के लोग सड़क पर उतर आए और रोड जामकर करीब दो घंटे हंगामा किया। हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने कई थानों की फ़ोर्स के साथ साथ आरआरएफ को भी बुला लिया। लेकिन पब्लिक मानने को तैयार नहीं हुई, जिसके चलते पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगो पर बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज कर दिया। लाठीचार्ज में कई लोग घयाल भी हो गए। एहतियातन चार थानों की फोर्स के साथ आरएएफ भी मौके पर तैनात की गई है।

ठाकुरगंज में सिक्योरिटी गार्ड की गोली मारकर हत्या

जानकारी के मुताबिक, बालागंज के मुफ्तीगंज स्थित झांखड़बाग के जाफरिया कॉलोनी निवासी समीर हुसैन (25) कालीचरण डिग्री कॉलेज से बीए कर रहा था। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि समीर ठाकुरगंज स्थित तीन बंदर वाले मंदिर के पास सड़क किनारे बाइक खड़ी कर उसी पर बैठा हुआ था, साथ ही उसके दो दोस्त भी थे। तभी चौक की ओर से आई डीसीएम ने उसकी बाइक को टक्कर मार दी। इस दौरान समीर डीसीएम की चपेट में आ गया। जबकि उसके दोस्त छिटककर दूर जा गिरे। मौके पर लोगों ने डीसीएम चालक को पकड़कर उसकी धुनाई शुरू कर दी। मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों को लोगों ने घेर लिया और आरोपित चालक को घसीटने का प्रयास किया।

ट्रेन से दो टुकड़ों में बंटा शरीर, जिन्दा होकर बताया पुलिसवालों को परिचय, देखें विडियो

पुलिस किसी तरह आरोपित को पकड़कर थाने ले गई। वहीं, समीर व उसके दोनों साथियों को ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने समीर को मृत घोषित कर दिया। साथियों को मामूली चोट आई है। समीर की मौत की जानकारी मिलते ही लोगों ने हरदोई रोड जाम कर हंगामा करना शुरू कर दिया। जानकारी पाकर जेहटा रोड पर सिक्यॉरिटी गार्ड मर्डर केस की छानबीन कर रहे एएसपी पश्चिमी विकास चंद्र त्रिपाठी और सीओ चौक डीपी तिवारी भी मौके पर पहुंचे।

बाइक लूटकर भाग रहे बदमाशों की पुलिस से मुठभेड़, सिपाही घायल

हालात देखकर वजीरगंज, तालकटोरा, चौक, सआदतगंज और बाजारखाला कोतवाली की फोर्स भी बुला ली गई। पुलिस ने लोगों को उग्र होता देख आरएएफ के जवानों को भी तैनात कर दिया। इस बीच कुछ लोगों ने दूसरी ओर की भी रोड जाम करने का प्रयास किया तो पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर उन्हें खदेड़ दिया। एसओ ठाकुरगंज दीपक दुबे का कहना है कि मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।

हादसे के बाद लोग इस बात को लेकर आक्रोशित थे कि नो एंट्री से पहले डीसीएम को क्यों आने दिया गया/ हंगामा करने वालों ने पुलिस पर वसूली का भी आरोप लगाया। सीओ चौक डीपी तिवारी ने बताया कि डीसीएम ठाकुरगंज इलाके में ही खड़ा था। चालक आसपास ही गाड़ी लेकर जा रहा था। शहर के भीतर उसे एंट्री नहीं दी गई थी। पुलिस अधिकारियों के समझाने के बाद प्रदर्शनकारी शांत हुए।

बाइक लूटकर भाग रहे बदमाशों की पुलिस से मुठभेड़, सिपाही घायल

सड़क हादसे में युवक की मौत के बाद आक्रोशित लोगों ने रोड जामकर करीब दो घंटे तक प्रदर्शन किया। इस कारण ठाकुरगंज दुग्ध मंडी से लेकर बालागंज तक की एक तरफ की रोड पर जाम लग गया। पुलिस ने दोनों तरफ की ट्रैफिक को एक ही तरफ से संचालित करने का प्रयास किया तो प्रदर्शनकारियों ने उसे रोकने का प्रयास किया। इसकी वजह से काफी देर तक दोनों ओर की सड़क पर सैकड़ों गाड़ियां फंसी रहीं।

देवरिया जनपद में बारात की कार पेड़ से टकराई, चार लोगों की मौत

मौके पर मौजूद जब पुलिस के अधिकारियों से पूरे मामले मे जानकारी ली गयी तो उनका कहना था कि भीड़ को समझा बुझाकर शांत करा दिया गया। जबकि तस्वीरें साफ बयान कर रही हैं कि किस बर्बरता के साथ लोगों पर पुलिस ने लाठियां भांजी हैं, पुलिस ने हर वर्ग के लोगों को जानवरों की तरह पीट कर मामले को शांत कराया, जिसमें कई लोग घायल भी हो गए।

योजनाओं में कोताही पर उच्चाधिकारियों की भी तय होगी जवाबदेही : ऊर्जा मंत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here