Home अन्य खबरें कोर्ट में चार लोग दोषी करार, रॉकी यादव ने ही की थी...

कोर्ट में चार लोग दोषी करार, रॉकी यादव ने ही की थी आदित्य की हत्या

121
0
SHARE

गया (बिहार)। बिहार के चर्चित रोडरेज केस में गया की अदालत मुख्य आरोपी रॉकी यादव समेत चार आरोपियों को दोषी करार दिया है। अदालत इन चारों आरोपियों की सजा पर फैसला छह सितंबर को करेगी। मुख्य अभियुक्त रॉकी यादव एमएलसी मनोरमा देवी का बेटा है। रॉकी के साथ पिता बिंदी यादव व चचेरे भाई टेनी यादव और बॉडीगार्ड को भी दोषी करार दिया है।

यह भी पढें:-मुंबई में तीन मंजिला इमारत में दबकर 15 लोगों की मौत
अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायाधीश सच्चिदानंद प्रसाद सिंह की अदालत ने मुख्य अभियुक्त रॉकी यादव को आईपीसी की धारा 302 (हत्या) के तहत दोषी ठहराया है। वहीं चचेरे भाई टेनी यादव और बॉडीगार्ड को भी आईपीसी की धारा 302 के तहत दोषी करार दिया है। अदालत ने रॉकी के पिता बिंदी यादव धारा 212 के तहत यानी आरोपी को शरण देने का दोषी ठहराया है। आरोपी रॉकी ने कोर्ट में सुनवाई से पहले परिसर में बने मंदिर के पुजारी को रुपये दिए चढ़ाने के लिए।

यह भी पढें:-सेक्स के दौरान अपनायें यह तरीका, देखें वीडियो

रॉकी पर आरोप है कि 12वीं के छात्र आदित्य सचदेवा की गोली मारकर हत्या सिर्फ इसलिए कर दी, क्योंकि उसने रॉकी की कार को ओवरटेक किया था। पिछले साल 7 मई को रॉकी यादव ने आदित्य की गोली मारकर हत्या कर दी थी। सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया था कि 11 सितंबर से पहले इस मामले में फैसला आना चाहिए। आदित्य के मां-पिता ने कहा कि उन्हें पूरा भरोसा है कि न्याय होगा।

यह भी पढें:-पैसे कमाने के लिए कुछ भी करने को तैयार मोहान रोड चौकी प्रभारी
जानकारी अनुसार 7 मई 2016 आदित्य अपने दोस्तों के साथ बोधगया से गया अपनी ही कार से लौट रहा था। सफर में रॉकी यादव से साइड देने को लेकर झगड़ा हुआ और रॉकी ने उसे गोली मार दी। इस मामले ने बिहार की राजनीति को गर्मा दिया था। आदित्य को अस्पताल ले जाते जाते ही उसकी रास्ते में ही मौत हो गई थी।

यह भी पढें:-उपजिलाधिकारी को मंदिर के पुजारी ने जड़ा तमाचा
इस मामले में रॉकी यादव के साथ रहे टेनी यादव और एमएलसी के अंगरक्षक राजेश कुमार को भी जेल भेजा गया था। रॉकी जेल में है। इस मामले में 9 मई 2016 को रामपुर थाना में कांड संख्या 130/16 दर्ज है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि 11 सितंबर से पहले इस केस का फैसला हो जाना चाहिए।

यह भी पढें:-‘रामराज’ आने के बाद भी तेजी से बढ़ रहा अपराध का ग्राफ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here