Home उत्तर प्रदेश घोटाला : अमेठी होता है खेल-खेल में भ्रष्टाचार!

घोटाला : अमेठी होता है खेल-खेल में भ्रष्टाचार!

707
0
SHARE

अमेठी: ग्रामीण स्तर पर खेल प्रतिभाओं को तैयार कर उन्हे निखारने के लिए लगभग आठ वर्ष पूर्व शुरू की गई केंद्र सरकार की पंचायत युवा क्रीड़ा और खेल अभियान (पायका) योजना के तहत सरकार द्वारा भेजे गए धन में जमकर बंदरबांट हुई है।

तिल के लड्डू तथा तिल मिश्रित खिचड़ी का सेवन बचाएगा ठण्डक से : डॉ. त्रिपाठी
खेल-खेल में हजम कर गए धन-
मामला सूबे के जनपद अमेठी का जहां एक समाजसेवी ने कुछ दिनों पूर्व प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर आरोप लगाया कि अमेठी के तत्कालीन जिला युवा कल्याण अधिकारी एसपी पांडेय व कनिष्ठ सहायक श्याम बहादुर ने खेल प्रतियोगिताएं संपन्न होने के बाद बची शेष धनराशि को वापस करने के बजाए गबन कर लिया है।

थककर बिस्तर पर सो जाती है यूपी पुलिस, तभी तो भगवान भरोसे है अमेठी !
विभागीय महानिदेशक ने मांगी रिपोर्ट-
इस मामले को संज्ञान में लेते हुए उत्तर प्रदेश सरकार के आदेश पर विभागीय महानिदेशक रमेश मिश्र ने बीते तीन अक्तूबर को प्रकरण की जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश जारी किया था लेकिन हैरानी इस बात की है कि महानिदेशक के इस आदेश के बावजूद भी प्रकरण की जांच शुरू नही हुई जिसके बाद महानिदेशक की ओर से जारी दूसरे पत्र में इस पर कड़ी नाराजगी जताते हुए जिलाधिकारी अमेठी को मामले की जांच कर रिपोर्ट उपलब्ध कराने को कहा गया है महानिदेशक की ओर से जारी रिमाइंडर के बाद जिम्मेदारों में हड़कंप मचा है ।

यूपी में ‘दहेज के दानवो’ ने ‘मनीषा’ को दी दर्दनाक मौत, मातम पसरा
जल्द ही भेजी जाएगी शासन को रिपोर्ट-
जिलाधिकारी योगेश कुमार ने महानिदेशक प्रांतीय रक्षक दल/विकास दल एवं युवा कल्याण उत्तर प्रदेश का पत्र मिलने की बात स्वीकार की। जिलाधिकारी अमेठी योगेश कुमार ने कहा कि इस जल्द ही मामले की जांच करवाकर रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी।

दरक रहा ‘कॉंग्रेस का किला’,क्या कॉग्रेस से अमेठी की जनता का मोह भंग हो रहा!
प्रतिभा उभारती है पायका-
पायका के उद्देश्य पंचायत स्तर पर खेल सुविधाओं का विकास एवं विस्तार करना है इसमें ग्राम पंचायतों क्रमानुसार किया जाता है अस्थाई स्वरूप के खेल उपकरण खरीद और मरम्मत आदि के लिए प्रति ग्राम और जनपद पंचायत को आर्थिक सहायता दिए जाने का प्रावधान है इसमें खेल मैदान में आयोजित की जाने वाली प्रतियोगिताओं के माध्यम से अव्वल आने वाली प्रतिभाओं को सम्मानित किए जाने का भी प्रावधान है ऐसे में अमेठी में योजना परवान ही नहीं चढ़ सकी जिससे यहां इसका उद्देश्य धूमिल होते ही नजर आ रहा है।

घरेलू गैस सिलेंडर फिर हुआ महंगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here