Home उत्तर प्रदेश 80 एनकाउंटर कर चुके है आईपीएस जय नारायण सिंह

80 एनकाउंटर कर चुके है आईपीएस जय नारायण सिंह

314
0
SHARE

लखनऊ। मैं किसी के कार्य क्षेत्र में हस्तक्षेप नहीं करूंगा। पर थाना स्तर पर परिवर्तन जरूर लाने की कोशिश करूंगा। आईपीएस की ट्रेनिंग के बाद मैं बतौर सीओ गोमतीनगर रहा हूं। अबतक की नौकरी में मैंने 80 एनकाउंडर किया है। मैं एसएसपी लखनऊ दीपक कुमार को अच्छी तरह जानता हूं वह काबिल आफिसर है। हम दोनों की सोच काफी मिलती जुलती है।

यह भी पढें:-यहां की लड़कियों से कई नहीं करता शादी, जानकर हो जायेंगे हैरान

मैं सबसे पहले थाने स्तर सुधार लाने का प्रयास करूंगा। मुंशी, हेडमुर्रिर, पैरोकार से मीटिंग करूंगा। उनके आचरण में परिवर्तन लाना जरूरी है। जब कोई पीडि़त आता है तो सबसे पहले थाने की मुंशी और दीवाने से ही मिलता है। अगर उनका व्यवहार अच्छा होगा तो पुलिस की छबि अच्छी बनेगी। यह कहना है पुलिस महानिरीक्षक लखनऊ जोन जय नारायण सिंह की।

यह भी पढें:-अपने कर रहे हैं अपनों का कत्ल, पुलिस बदनाम
आईजी जय नारायण सिंह ने अपना कार्यभार शनिवार को ग्रहण कर लिया। कार्यभार ग्रहण करने के दौरान उन्होंने अपनी प्राथमिकतायें गिनाते हुए कानून-व्यवस्था को और चुस्त-दुरुस्त करने की बात कही। बता दें कि योगी सरकार ने शुक्रवार को 39 आईपीएस अफसरों के तबादले कर दिए। इनमें जोन के आईजी को रेंज की भी जिम्मेदारी दी गई गई है। आईजी जय नारायण सिंह मूल रूप से आजमगढ़ जिले के रहने वाले हैं। वह 1994 बैच के यूपी कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं। उन्होंने बीटेक इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग से पढ़ाई की है।

यह भी पढें:-दुधमुही बच्ची के साथ मां ने लगायी आग

मीडिया से रूबरू होने के बाद आईजी रेंज ने बताया कि वह सबसे पहले हेड मोहर्रिरों की मीटिंग करेंगे। इसमें जो लापरवाह हैं उन पर कार्यवाही की जाएगी, ताकि छोटे से छोटे अपराध के मामले में थाना स्तर पर सुनवाई हो। इसके अलावा उन्होंने यातायात व्यवस्था पर जोर देते हुए कहा कि शहर की बदहाल यातायात व्यवस्था को दुरुस्त किया जाएगा, हर पिकेट पर पुलिस कर्मी तैनात रहेंगे। योग्यता के अनुसार दरोगा और इंस्पेक्टरों को थाने पर तैनात किया जाएगा। उन्होंने कहा कि गस्त पर लापरवाही करने वाले पुलिसकर्मियों को बक्सा नहीं जाएगा।

यह भी पढें:-बीच चौराहे पर दबंग ने दरोगा को पीटा, इंस्पेक्टर को दी गालियां

आईजी रेंज ने बताया कि वह अब तक करीब 80 एनकाउंटर कर चुके हैं। वाहन चोरी, चेन, स्नेचिंग करने वाले अपराधियों की कुंडली खंगाली जाएगी। उन्होंने कहा कि पैरोकारों के साथ ही थाना स्तर पर मीटिंग होगी। उन्होंने कहा कि वह इलेक्ट्रिशियन भी रहे हैं। इसलिए बिजली विभाग के इंजीनियरों के साथ भी मीटिंग करेंगे। उन्होंने एसएसपी लखनऊ को निर्देश दिया है कि सीयूजी नंबर पर आने वाली कॉल का बेहतर रिस्पांस दें। कॉल रिसीव करें ताकि जनता जनता में जो पुलिस का रवैया है वह बेहतर हो सके। उन्होंने कहा कि मीडिया कर्मियों के फोन जरूर उठाएं और उन्हें सटीक जानकारी दें। उन्होंने यह भी कहा कि जो सिफारिश का काम कम करेंगे उनके लिए वह बेहतर काम करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here