Home Uncategorized लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर हादसों का मंजर, कन्नौज में 70 मौतें

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर हादसों का मंजर, कन्नौज में 70 मौतें

672
0
SHARE

कन्नौज| करीब साल भर पहले लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर लड़ाकू विमान उतारने के साथ तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव ने इसकी शुरुआत की थी। साल भर बाद फिर इस पर लड़ाकू विमान उतारे गए, सड़क पर विमान उतारना लोगों के लिए किसी अजूबे से कम नहीं था लेकिन एक्सप्रेस-वे जिस तरह खून से लाल हो रही है इसकी डिजाइन पर भी सवाल खड़े होने लगे हैं।

BRD मेडिकल कॉलेज में पिछले चार दिनों में 55 बच्चों की मौत
कन्नौज क्षेत्र में शनिवार देर रात कार में सवार एक पूरे परिवार और दो सगे भाइयों यानी छह लोगों की मौत हुई। इससे पहले भी इस क्षेत्र में कई बड़े हादसे हो चुके हैं। पुलिस रिकार्ड देखें तो साल भऱ के अंदर 63 बड़े हादसे एक्सप्रेस-वे पर हुए। इन हादसों में 70 लोगों की जानें गईं और 360 लोग गंभीर रूप से घायल हुए। यह आंकड़ा सिर्फ कन्नौज क्षेत्र का है, पूरे एक्सप्रेस-वे की बात करें तो आकड़ा डेढ़ सौ से अधिक मौतों का है।

दो छात्राओं को शिक्षिका ने बेरहमी से पीटा, एक का हाथ टूटा

नवम्बर 2016 में चालू हुए एक्सप्रेस-वे अब तक हादसों को एक्सप्रेस-वे साबित हुआ है। कुछ निश्चित जगहों पर हादसे होने के कारण लोग एक्सप्रेस-वे के निर्माण में खामियां बताने लगे। कन्नौज के ठठिया, तालग्राम और सौरिख थाना क्षेत्र में सर्वाधिक हादसे हुए हैं। सभी हादसे चार पहिया वाहन से हुए, जिसमें से अधिकांश घटनाएं वाहनों के डिवाइडर से टकराने पर हुईं।

जनता ने मौका दिया है, एक बार फिर क्षेत्र में विकास होगा : डोरी लाल यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here