Home क्राइम सीतापुर में रहने वाले युवक की झारखंड में हत्या, 1 वर्ष बाद...

सीतापुर में रहने वाले युवक की झारखंड में हत्या, 1 वर्ष बाद भी नहीं मिले हत्यारे

146
0
SHARE

लखनऊ। स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत सुलभ शौचालय निर्माण हेतु ग्राम बड़ी नीचकेल थाना अड़की जिला खूंटी झारखंड डीजे फॉल्स इन्फ्राट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड के सुपरवाइजर आर्यन द्वारा अनिल यादव पुत्र फूलचंद यादव निवासी ग्राम देशी लोकिया थाना रामपुर, मथुरा जिला सीतापुर को ले गए थे। जहां अनिल यादव को समस्त कर्मचारियों के साथ वहां के गांव के मुखिया के घर पर रुकवाया गया था। जहां 12 जनवरी 2018 की शाम सुपरवाइजर आर्यन कंपनी के कर्मचारी संदीप डायरेक्टर एसधर, परविंदर व कमल कपूर ने साजिश के तहत अनिल यादव की हत्या कर दी। जिसका मुकदमा 02/ 2018 अपराध धारा 302, 201 आईपीसी के तहत थाना अड़की जिला खूंटी झारखंड में दर्ज किया गया था।

घटना के 1 वर्ष बीतने के बाद भी पुलिस इन आरोपियों तक नहीं पहुंच सकी है। इस संबंध में थाना अध्यक्ष अड़की का कहना है कि मामले की गहनता से जांच पड़ताल की गई थी लेकिन इन लोगों के खिलाफ अभी कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं। मामले की जांच की जा रही है जबकि खूंटी जिले के एसपी का कहना है कि मामले में कई टीमें लगाई गई है उसके बावजूद भी अभी कोई सफलता नहीं मिली है और अभी हत्या का मोटी भी नहीं मिला है। मामले को ठंडे बस्ते में नहीं डाला गया है। अक्सर जांच अधिकारी से इस संबंध में बातचीत होती है जल्द ही कोई सफलता मिलने की उम्मीद है। वहीं इस संबंध में मृतक के भाई का कहना है कि कंपनी के आला अधिकारी अक्सर मुकदमा वापस लेने की धमकी देते हैं कई बार उनके द्वारा मुझे धमकाया गया और कहा गया कि तुम हत्या का मुकदमा वापस नहीं लेते तो तुम्हारे भाई के पास तुम्हें पहुंचा दिया जाएगा। पुलिस ने पूरे मामले में पैसा लेकर लीपापोती कर दिया है। उनके भाई के हत्यारे आज भी खुलेआम घूम रहे हैं। पुलिस ने पूरे मामले में पैसा लेकर हत्यारे को खुलेआम छोड़ दिया है जो अक्सर उन्हें धमकी देते हैं। इस संबंध में मृतक के भाई राम किशोर यादव ने मुख्यमंत्री झारखंड को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here