Home अन्य खबरें ब्यूटी पार्लर में करती थीं नौकरी

ब्यूटी पार्लर में करती थीं नौकरी

392
0
SHARE

लखनऊ। राजधानी के कालीचरण डिग्री कॉलेज में बीएम प्रथम वर्ष की छात्रा थी। वह सेल्स गर्ल का भी काम करती थी। मृतका के पिता रामजनम तीन बेटी एक बेटे व पत्नी का पेट पालने के लिए मजदूरी करते है। घर की माली हालत ठीक नहीं होने के चलते उनकी बेटी प्रिया राजाजीपुरम स्थित एक ब्यूटी पार्लर में नौकरी करती थी। वह परिवार के साथ दुबग्गा थाना क्षेत्र में आवास विकास की आम्रपाली योजना में रहती थी।

यह भी पढें:-अगवा करके भाग रहे बदमाशों ने चलती आटो से युवती को फेंका

परिवार वालों के अनुसार शुक्रवार को वह किसी काम से राजाजीपुरम गई थी। देर रात वह टेम्पो से अपने घर जाने के लिए टेम्पो संख्या यूपी 34 टी 4410 में बैठी थी। उसके घरवाले दुबग्गा पर उसका इंतजार कर रहे थे। दुबग्गा पहुंचते ही युवती ने टेम्पो रोकने के लिए कहा तो टेम्पो चालक ने स्पीड बढ़ा दी। युवती ने अपनी मां को देखकर शोर मचाया लेकिन टेम्पो चालक ने वाहन नहीं रोका।

यह भी पढें:-एक क्लीक पर मिलेगी संतुष्ट करने के लिए महिलाएं, देखे वीडियो

टेम्पो चालक की नियत डोल गई तो उसने अपने साथियों को बुलाया और उसके साथ बलात्कार का प्रयास किया। युवती के विरोध करने पर बदमाशों ने उसकी पिटाई कर दी। खुद के फंसने के भय से बदमाश उसे डेंटल कालेज के चलती टेम्पो से फेंककर फरार हो गए। सुशीला रोड पर खड़ी ही थी कि उसी के सामने से बदमाश मृतका प्रिया (सभी नाम काल्पनिक) को विक्रम से अगवा कर भागने लगे। बेटी के शोर मचाने पर मां ने भी चिल्लाकर राहगिरों से मद्द मांगनी शुरू कर दी।

यह भी पढें:-महिला शिक्षिका ने छात्र को शराब पिलाकर बनाए शारीरिक संबंध, बनाया वीडियो

संदिग्ध मामला समझते ही तीन-चार बाइकसवारों के साथ ही एक मैजिक चालक ने विक्रम का पीछा किया। खुद को घिरता देख बदमाशों ने घैला पुल के आगे प्रिया को चलती विक्रम से फेंक दिया। सिर और सीने में गंभीर चोट लगने से घायल प्रिया को परिजनों ने अन्य लोगों की सहायता से पास के प्राइवेट अस्पताल पहुंचाया। जहां हालत गम्भीर देखते हुए डॉक्टरों ने उसे ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया। जहां इलाज के दौरान युवती की मौत हो गई। परिजनों ने बताया कि प्रिया के शरीर पर कई जगह चोटें थी। जिसे देखकर लग रहा था कि बदमाशों ने रेप के प्रयास के साथ ही उसकी बेरहमी से पिटाई की होगी। इसके अलावा गले पर भी कई जगह नाखून से नोंचने के निशान थे। जिससे समझा जा रहा है कि प्रिया के खुद के बचाव में दरिंदों से भिड़ंने के बाद उन्होंने उसकी गला दबाकर हत्या भी करना चाहा था।

यह भी पढें:-पत्नी को संतुष्ट करना है तो करें यह उपाय, देखें वीडियो

पकड़े जाने से घबड़ा, चालक ने घटनास्थल से कुछ ही दूर पर एक गड्ढे में विक्रम ‘यूपी 34 टी 4410 को कूदा दिया। जिसके बाद विक्रम के गड्ढे में फंस जाने से बदमाश उसको वहीं छोड़कर भाग निकले। मौके पर पहुंची पुलिस ने छानबीन के बाद विक्रम को अपने कब्जे में ले लिया है। घरवालों ने आशंका जताई है कि चालक के अलावा कम से कम दो-तीन बदमाश विक्रम में मौजूद थे।

यह भी पढें:-21 जून को पीएम पर आत्मघाली हमले की आशंका
भले ही दुबग्गा चौराहे और आईआईएम रोड तिराहे के पास पुलिस दिनभर वसूली में व्यस्त रहे, लेकिन इस दुस्साहसिक वारदात के दौरान पुलिस वहां नहीं मिली। टेम्पो चालक युवती को काकोरी से मडिय़ांव थाने की सीमा में पहुंच गया लेकिन हर जगह मुस्तैद रहने का दावा करने वाली डॉयल 100 की पुलिस भी कहीं नजर नहीं आई। हालांकि सूचना के बाद मौके पर पहुंची मडिय़ांव पुलिस ने टेम्पो को कब्जे में लिया। नंबर के आधार पर टेम्पो स्व. राजू के नाम पर पंजीकृत है। जिसकी बेटी ने पप्पू नाम के युवक को टेम्पो चलाने के लिए दिया था।

यह भी पढें:-ड्रोन कैमरे से अधिकारियों ने लिया सुरक्षा का जाएजा
शनिवार को एक बार फिर ऐसी ही घटना ने राजधानी की कानून-व्यवथा को कटघरे में लाकर खड़ा कर दिया है। अब देखने वाली बात यह होगी कि पुलिस आरोपियों को कितनी जल्दी पकड़ पाती है। प्रिया के मामा राकेश ने बताया कि रोज की तरह कल रात आठ बजे ब्यूटी पॉर्लर से घर लौटने के लिए प्रिया ऑटो से राजाजीपुरम से बालागंज और फिर दुबग्गा पहुंची। दुबग्गा पर एक विक्रम में सवार होने के बाद उसने अपनी मां सुशीला को फोन कर हमेशा की तरह रिसीव करने के लिए मेन रोड पर बुलाया था।

यह भी पढें:-लड़की हुई प्यार में पागल, कलाई काटकर खून से लिखा आई लव यू
क्या कहते हैं जिम्मेदार
एसपीटीजी हरेंद्र कुमार ने बताया विक्रम बीकेटी के सरैय्या निवासी राज सहाय का है। जिसे किराए पर लेकर दिन में सोनू तो रात में पप्पू चलाता था। फिलहाल यह पता नहीं चल सका है कि घटना के समय विक्रम कौन चला रहा था, दोनों की तलाश की जा रही है. पकड़े जाने पर पूरी स्थिति साफ हो पाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here