Home युवा दिल जानिये क्यो पिलाया जाता है सुहागरात में दूध, देखें वीडियों

जानिये क्यो पिलाया जाता है सुहागरात में दूध, देखें वीडियों

608
0
SHARE

हमारे समाज में शादी के बाद सुहागरात पर दुल्हन-दूल्हे को दूध पिलाया जाता है। अधिकतर लोगों के मन में ये सवाल आता है कि आखिर दूध क्यों पिलाया जाता है और इसके पीछे क्या मान्यता है या फिर कोई वैज्ञानिक कारण तो नहीं है। अगर आपको नहीं पता अवश्य पढिय़े।

यह भी पढें:-युवती का अपहरण कर जंगल में एक माह तक करते रहे बारी-बारी से रेप
पहला कारण यह है कि परंपरा के पालन के लिए किया जाता है। इसका दूसरा वैज्ञानिक कारण भी है कि पति-पत्नी का विवाह सूत्र में बंधना एक पवित्र बंधन माना जाता है। सुहागरात के दिन दुल्हन अपने दूल्हे को दूध में केसर और बादाम डालकर इसलिए देती है, क्योंकि दूध केसर और बादाम भी पवित्र माना जाता हैं इसलिए वह नए जीवन की शुरुआत के पहले पवित्र खाद्य पदार्थों के द्वारा शुरुआत करते है। लोग इसको एक पवित्र परंपरा मान कर उस का पालन करते हैं पर इसके पीछे एक वैज्ञानिक कारण भी है जो स्वास्थ और सेहत की दृष्टि से बहुत ही लाभकारी है।

यह भी पढें:-नवविवाहिता रोजाना बनाती थी सुहागरात
तीसरा कारण यह भी है कि दूध में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो कामोत्तेजना को बढ़ाते हैं दूध में शरीर की थकावट को दूर करने की और थकी हुई नसों को बल देने की अद्भुत क्षमता होती है इसलिए लोग दूध को एक कामोत्तेजक पर के रूप में देखते हैं इस कारण से भी सुहागरात में दुल्हन द्वारा दूल्हे को दूध पिलाया जाता है जो शरीर को पौष्टिकता और उत्तेजना को बढ़ा देता है।

यह भी पढें:-सुहागरात को चीखती-तड़पती रही पत्नी, पति ने किया ऐसा गंदा काम
लगातार दूध का सेवन आपकी काम-शक्ति बहुत बेहतर बना देती है और यह आपके शरीर में सेक्सुअल सिस्टम को भी मजबूत बनाती है। दूध में प्रोटीन के साथ-साथ कई ऐसे तत्त्व भी होते हैं जिससे आपके शरीर के हार्मोन का रेट बढ़ता है और सुहागरात के सुखद अनुभव को और ज्यादा आनंददायक बनाने के लिए भी दुल्हन द्वारा एक गिलास दूध अपने दूल्हे को दिया जाता है। दूध का सेवन करने से आपका मानसिक तनाव भी कम होता है।

यह भी पढें:-मर्दों को बिस्तर का शेर बना देंगी यह दवा, वीडियो देखें

आप नियमित रूप से एक गिलास दूध जो लगभग 200 ग्राम होता है इसका सेवन प्रतिदिन करने से आपका शरीर बलशाली बनता है और पौरुष शक्ति में भी गजब की वृद्धि होती है। बच्चों और महिलाओं के लिए उनके शरीर को सुडौल बनाने के लिए दूध बहुत जरूरी है। दूध में रोग प्रतिरोधक क्षमता भी होती है जो आपके शरीर में बीमारीओं से लडऩे में और उनको रोकने में सहायक होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here